Top
Home > Archived > क्या इसलिए लगा पटाखों पर बैन?

क्या इसलिए लगा पटाखों पर बैन?

 शिव कुमार मिश्र |  19 Oct 2017 4:49 AM GMT  |  दिल्ली

क्या इसलिए लगा पटाखों पर बैन?

इस प्रकार से पूजाअर्चना करना तो संविधान की धर्मनिरपेक्ष छवि पर प्रहार हुआ । किसी प्रदेश का मुखिया, वहां संवैधानिक पद पर नियुक्त प्रतिनिधि यदि इसी प्रकार से स्वरूपों की पूजा अर्चना करेंगे तो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आपकी छवि को कितनी चोट पहुंचेगी इसका आपको लेशमात्र भी गुमान नही हैं।


एक तरफ अदालत आपकी गलत आदतों रीतिरिवाजों पर रोक लगाने को मजबूर हुआ इसकी वजह भी आपकी संवेदनहीनता ही थी जो अदालत को संवेदनशील होना पड़ा। देश में जहां लाखो रोहियांग शरणार्थी बन कर रह रहे हो वहाँ आप वायु प्रदुषण कैसे कर सकते हैं। दीपावली के नाम पर पटाखो में अरबो रुपया आप फूंक देते हैं लेकिन उन रोहियांगो को आप एक रुपया भी सहायतार्थ आज तक नही दिये हैं।


अभी तो पटाखो पर ही प्रतिबंध लगाया गया हैं। आप लोगो ने अपने व्यवहार में परिवर्तन नही किया तो अगले वर्ष दीपावली के नाम पर जिस तरह से आप लोग अपने घरों में रंग रोगन करने के बाद पानी की बर्बादी करते हैं उस पर भी सिंघवी को मजबूरन अदालत की शरण लेनी होगी। अगले वर्ष एक नये प्रतिबंध की संभावना के साथ आप सभी को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं!

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it