Home > Archived > चाहे मेरा लिंग कटवा दो लेकिन......?

चाहे मेरा लिंग कटवा दो लेकिन......?

 महेश झालानी |  9 Sep 2017 4:18 AM GMT  |  जयपुर

चाहे मेरा लिंग कटवा दो लेकिन......?

औरतो को अपनी वासना का शिकार बनाने तथा उनके साथ वहशी तरीके से बलात्कार करने वाले ढोंगी बाबा राम रहीम को कुछ ही दिनों में जेल के अंदर अपनी नानी याद आगई है । दिन रात रो रोकर गुजारने वाला यह दरिंदा तो अब जेल प्रहरियों के पैर पकड़ कर बाहर निकालने की गुजारिश करता है।


अपना विशाल साम्राज्य स्थापित करने तथा ऐश के साथ जिंदगी व्यतीत करने वाला यह कैदी नम्बर 197 ने परसो जेल के एक अफसर के पैर पकड़ कर याचना की कि चाहे तो मेरा लिंग कटवा दो, लेकिन इस कोठरी से बाहर निकाल दो। ढोंगी बाबा का करीब 6 किलो वजन भी कम होगया है। उसने जेल अधिकारी के पैर पकड़कर विनती की कि भविष्य में वह किसी महिला की तरफ देखेगा तक नही।


उसकी यह इच्छा है कि एक बार उससे मिलने हनीप्रीत आ जाये। मुँह बोली इस बेटी को भी इस दरिंदे ने अपनी वासना का शिकार बनाया था । पता चला है कि बाबा सामूहिक रूप से अप्राकृतिक मैथुन का भी शौकीन था। लड़कियों के नंगे बदन पर शराब उड़ेलकर उसे चाटने का बेहद शौक था। इस शौक़ीनबाज को अभी 20 साल तक इसी काल कोठरी में रहना है। दो मामलों में उसकी सजा लंबित है...

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top