Home > क्या कांग्रेस के पुराने पाप आसानी से पीछा नही छोड़ेंगे?

क्या कांग्रेस के पुराने पाप आसानी से पीछा नही छोड़ेंगे?

कांग्रेस के पुराने पाप आसानी से पीछा नही छोड़ेंगे कार्ति चिदम्बरम की गिरफ्तारी को आप एक शुरुआत ही मानिए, INX वाले केस में हवा चिदम्बरम के खिलाफ है

 शिव कुमार मिश्र |  2018-03-01 08:10:52.0  |  दिल्ली

क्या कांग्रेस के पुराने पाप आसानी से पीछा नही छोड़ेंगे?

कांग्रेस के पुराने पाप आसानी से पीछा नही छोड़ेंगे कार्ति चिदम्बरम की गिरफ्तारी को आप एक शुरुआत ही मानिए, INX वाले केस में हवा चिदम्बरम के खिलाफ है, आपस मे कुछ डील हो जाए तो अलग बात है लेकिन जैसे यह ठंडा होने लगेगा एयरसेल मैक्सिस वाला केस तैयार पड़ा हुआ है

शीना बोरा हत्याकांड में इंद्राणी मुखर्जी अपने तमाम बड़े संपर्क सूत्रों का लाभ इसलिए नही उठा पायी कि उसे इस बड़े मामले में कुर्बानी देनी ही थी सीबीआई ने दावा किया था कि शीना की हत्या के पीछे भी वित्तीय लेन-देन का मकसद था। सीबीआई का प्रतिनिधित्व अतिरिक्त सॉलीसीटर जनरल अनिल सिंह ने किया। उन्होंने अदालत से कहा, आईएनएक्स जिसमें पीटर और इंद्राणी साझेदार थे सौदों से घपला कर निकाला गया धन सिंगापुर में शीना बोरा के एचएसबीसी खाते में भेजा गया था ओर यही धन शीना बोरा की मौत की वजह बन गया
आईएनएक्स मीडिया केस में आरोपी इंद्राणी मुखर्जी ने सीबीआई को बताया कि कार्ति चिदंबरम ने एफआईपीबी (फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड) क्लीयरेंस के लिए करीब साढ़े 6 करोड़ रुपये ($1 मिलियन) की मांग की थी
सरकार को यही तो चाहिए था इस बयान के आधार पर उसने कार्ति चिदम्बरम को टांग दिया है और गलत भी नही टांगा है
2008 में खबरें आईं कि कार्ति की कंपनी को आईएनएक्स मीडिया से पैसा और शेयर ट्रांसफर हुए. ये भी कहा गया कि आईएनएक्स के मालिक पीटर मुखर्जी ने कार्ति को किश्तों में कई बार पैसा दिया. कहा गया कि इस पैसे के बदले कार्ति अपने पिता पी चिदंबरम से कहकर आईएनएक्स मीडिया के निवेश को मंजूरी दे दी
कुछ ऐसा ही मामला एयरसेल मैक्सिस का भी था
सीबीआई द्वारा विशेष अदालत में दाखिल चार्जशीट के अनुसार, मैक्सिस की सहायक कंपनी ग्लोबल कम्यूनिकेशन सर्विसेज होल्डिंग्स लिमिटेड ने एयरसेल में 800 मिलियन डॉलर के निवेश के लिए मंजूरी मांगी थी इसमें भी चिदम्बरम के बेटे कार्ति चिदम्बरम का सम्बंध बताया जाता है
आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी इस मामले में अनुमति के लिए सक्षम थी। हालांकि तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम द्वारा इस संबंध में अनुमोदन प्रदान किया गया था। इस संबंध में आगे की जांच जारी है। इस मामले में कार्ति के शामिल होने का आरोप है, जैसे ही वह INX के मामले में बचने की कोशिश करेंगे उन्हें एयरसेल मैक्सिस में घेर लिया जाएगा.
INX ओर एयरसेल मैक्सिस दोनों ही मामलों में नीरा राडिया का रोल है लेकिन मीडिया कभी उसका नाम नही लेगा बड़े बड़े पत्रकारों और संपादको की उसका नाम सुनते ही जुबान तालु से चिपक जाया करती है.
गिरीश मालवीय की कलम से

Tags:    
Share it
Top