Top
Begin typing your search...

बदायूं गैंगरेप केस : कांग्रेस नेत्री अलका लांबा बोलीं,' UP में महिलाओं से दरिंदगी पर चुप्पी तोड़ें स्मृति ईरानी'

कांग्रेस पीड़ित परिवार के साथ

बदायूं गैंगरेप केस : कांग्रेस नेत्री अलका लांबा बोलीं, UP में महिलाओं से दरिंदगी पर चुप्पी तोड़ें स्मृति ईरानी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: यूपी में बदायूं जिले के एक मंदिर में गत रविवार को हुए एक महिला से वीभत्स सामूहिक बलात्कार के मामले की देशभर में भर्त्सना हो रही है. पचास वर्षीया महिला के साथ हुई इस दरिंदगी के मामले में यूपी पुलिस का रवैय्या बहुत ही बेकार रहा है. कांग्रेस ने भी बदायूं गैंगरेप केस में योगी सरकार पर बड़े सवाल उठाये हैं. अलका लांबा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से यूपी में महिलाओं से हो रही दरिंदगी पर चुप्पी तोड़ने की मांग की है.

कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता और चर्चित नेत्री अलका लांबा ने यूपी की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. अलका लांबा ने योगी सरकार को पूरी तरह से विफल बताया है और महिलाओं के साथ दरिंदगी की घटनाओ पर हमला बोला है. अलका लांबा ने कहा कि यूपी में उन्नाव और हाथरस कांड को अभी लोग नहीं भूले थे कि बदायूं की घटना ने झझकोर दिया है. अलका लांबा ने कहा कि यूपी पुलिस ने घटना को दबाने का प्रयास किया, घटना को गंभीरता से नहीं लिया. उन्होंने कहा कि उन्नाव और हाथरस की तरह पुलिस-प्रशासन और योगी सरकार कार्यवाही की बजाय आरोपियों को संरक्षण देने औय उन्हें बचाने में जुटी हुई है.

अलका लांबा ने कहा है कि कांग्रेस मांग करती है कि पीड़िता के परिजनों को क़ानूनी मदद के साथ पचास लाख रुपया मदद सरकार दे. उन्होंने पूरे मामले की जांच हाईकोर्ट के वर्तमान जज के नेतृत्व में कराने की मांग की है. अलका लांबा ने स्मृति ईरानी पर हमला बोलते हुए कहा कि स्मृति ईरानी को अगर नववर्ष मनाने से फुर्सत मिल गयी हो तो बदायूं की घटना पर बोलें और पीड़िता के घर जाये ?

उन्होंने कहा कि स्मृति ईरानी उन्नाव और हाथरस कांड पर खामोश रहीं लेकिन उम्मीद है कि बदायूं गैंगरेप पर वह खामोश नहीं रहेंगी. उन्होंने स्मृति ईरानी पर कई सवाल भी उठाये . उन्होंने कहा कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार असंवेदनशील हो चुकी है. अलका लांबा ने कहा कि कांग्रेस पीड़ित परिवार के साथ है. न्याय दिलाने में अगर सड़कों पर उतरना पड़ेगा तो भी हाथरस की तरह पीछे नहीं हटेंगी. कांग्रेस पीड़ित परिवार को न्याय दिलाकर रहेगी.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it