Home > 68 प्रतिशत दूध में डिटर्जेंट, सफेद पेंट की मिलावट

68 प्रतिशत दूध में डिटर्जेंट, सफेद पेंट की मिलावट

 Special News Coverage |  2016-03-17 07:15:49.0

68 प्रतिशत दूध में डिटर्जेंट, सफेद पेंट की मिलावट

नई दिल्ली। सरकार के मुताबिक देश में 68 फीसदी से ज्यादा दूध खाद्य नियामक की ओर से तय मानकों पर खरा नहीं उतरता, चौंकाने वाला यह तथ्य सामने आया है। दूध में सबसे ज्यादा मिलावट डिटर्जेंट, सफेद पेंट, कॉस्टिक सोडा, ग्लुकोज और रिफाइंड तेल की हैं । ये सभी सेहत के लिए घातक माने जाते हैं।

बुधवार को लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री हर्षवर्धन ने यह जानकारी दी। दूध में मिलावट रोकने के लिए एक ऐसा स्कैनर तैयार किया गया है, जो 40 सेकंड में दूध में अशुद्धियों का पता लगा लेता है। पहले दूध में अशुद्धियों की जांच के लिए अलग से रासायनिक जांच की आवश्यकता होती थी।


हर्षवर्धन ने कहा कि संसद सदस्यों को अपनी सांसद निधि से अपने संसदीय क्षेत्र के लिए इस स्कैनर की खरीद करनी चाहिए। स्कैनर की लागत अभी बेशक ज्यादा है, लेकिन इससे एक जांच पर आने वाला खर्च बमुश्किल 10 पैसा है। निकट भविष्य में जीपीएस आधारित एक ऐसी तकनीक भी विकसित की जाएगी, जिससे इस बात का पता लग सके कि दूध आपूर्ति श्रृंखला के किस बिंदु पर उसकी गुणवत्ता से छेड़छाड़ की गई।

दुनिया में सबसे अधिक दूध उत्पादन करता है भारत। देश में इस साल दूध उत्पादन 1463.10 लाख टन रहने का अनुमान। देश में दूध उत्पादन 6.3 प्रतिशत बढ़ा। 70 प्रतिशत नमूने मानकों पर खरे नहीं उतरे। 8 प्रतिशत दूध के नमूनों में डिटर्जेंट की मिलावट पाई गई। पानी की मिलावट सबसे अधिक पाई गई।1791 सैंपल लिए गए थे।
पूर्वोत्तर के राज्यों से एकत्रित 250 नमूनों में डिटर्जेंट पाया गया। पुड्डुचेरी व गोवा के नमूने 100 प्रतिशत बेहतर पाए गए।

Tags:    
Share it
Top