Home > सावधान: सेंटर फॉर साइंस एंड एनवॉयरमेंट सर्वे में खुलासा, ब्रेड खाने से हो सकता है कैंसर

सावधान: सेंटर फॉर साइंस एंड एनवॉयरमेंट सर्वे में खुलासा, ब्रेड खाने से हो सकता है कैंसर

 Special News Coverage |  2016-05-24 08:41:38.0

Beware: Centre for Science and Environment Survey, revealed that cancer may be to eat bread

नई दिल्ली: सेंटर फॉर साइंस एंड एनवॉयरमेंट (सीएसई) द्वारा जारी किए गए स्टडी रिपोर्ट में ब्रेड खाने से कैंसर जैसी बीमारी होने की आशंका बताई गई है। क्योंकि भारतीय कंपनियों द्वारा बनाए जाने वाले अधिकतर ब्रेड में पोटेशियम ब्रोमेट और पोटेशियम आयोडेट रसायन मिले होते हैं, जिनसे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचता है। इसलिए कई देशों में ब्रेड में इन रसायनों के मिलाने पर प्रतिबंध लगा हुआ है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा अधिकारियों से तुरंत रिपोर्ट करने को कहा है। घबराने की कोई जरूरत नहीं है, जल्द जांच की रिपोर्ट सामने आ जाएगी।


ऑल इंडिया ब्रेड मैन्‍युफैक्‍चरर्स एसोसिएशन के अध्‍यक्ष रमेश मागो ने कहा कि एफएसएसएआई के नियामक ने ब्रेड और बेकरी के लिए उपयोग किए जाने वाले मैदा (20 ppm max) के लिए पोटैशियम ब्रोमेट और पौटैशियम आयोडेट के उपयोग की अनुमति दी है। हम लोग इसी आधार पर ब्रेड का निर्माण करते हैं।

हाल ही में एक रिपोर्ट में ये दावा किया गया था कि दिल्‍ली के ब्रेड बनाने वाली सभी टॉप ब्रांड्स में कैंसर वाले केेमिकल मिले हैं। रिपोर्ट के दावे को खारिज करते हुए दिल्‍ली के निर्माताओं ने कहा कि वे भारतीय खाद्य नियामक द्वारा बनाए गए नियमों का ही पालन करते हैं। साथ ही संघ का कहना है कि इसी मानक के ब्रेड अमेरिका जैसे शहरों में भी खाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। रिसर्च में ब्रिटैनिया, हार्वेस्‍ट गोल्‍ड और फास्‍ट फूड चेन- केएफसी, पिज्‍जा हट, डोमिनोस, सबवे, क्‍डोनाल्‍ड्स और स्‍लाइस ऑफ इटली के सैंपल्‍स लिए गए थे।

स्वास्थ्य के लिए प्रतिकूल होने की वजह से कई देशों ने पहले ही ब्रेड को अपने देश में प्रतिबंधित कर रखा है। रिपोर्ट के मुताबिक सामान्‍य तौर पर उपलब्‍ध 38 ब्रांड्स के 84 प्रतिशत ब्रेड, जिसमें पाव और बंस हैं, जांच के दौरान इसमें पोटैशियम ब्रोमेट व पोटैशियम आयोडेट के लिए पॉजिटिव पाया गया। जिससे कि कैंसर जैसी बीीमारी होने का खतरा बना रहता है। इसके अलावा थायरॉयड लेवल बिगरने की संभावना बनी रहती है।

Tags:    
Share it
Top