Home > कैसे होता है सेक्स की लत का इलाज?

कैसे होता है सेक्स की लत का इलाज?

इलाज के लिए ये जानना भी ज़रूरी है कि इससे गुजर रहे शख़्स को सेक्स के बाद पछतावा होता है या नहीं.

 शिव कुमार मिश्र |  2017-10-19 05:39:41.0  |  दिल्ली

कैसे होता है सेक्स की लत का इलाज?

''मैं यहा हूं, ख़ुद को जितना संभाल सकता हूं, संभाले हुए. मैं ठीक नहीं हूं लेकिन मैं मेहनत करता हूं. मुझे मदद की ज़रूरत है. हम सभी ग़लतियां करते हैं. मुझे उम्मीद है कि मुझे दूसरा मौका दिया जाएगा.'' ये हार्वी वाइन्सटाइन के शब्द हैं जो उन्होंने कुछ दिनों पहले पत्रकारों से कहे थे. उन पर हॉलीवड की कई मशहूर अभिनेत्रियों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

अब ख़बर ये है कि हार्वी ने मीडोज में ऐरिज़ोना के जाने-माने पुनर्वास केंद्र में 'सेक्स एडिक्शन' यानी सेक्स की लत का इलाज कराना शुरू कर दिया है. यहां माइकल डगलस और टाइगर वुड्स जैसी जानी-मानी हस्तियां भी अपना इलाज करा चुकी हैं.

उन्हें यह भी बताया गया है कि इलाज पूरा करने के लिए वो बाद में यूरोप भी जाएंगे. इसे उन्होंने और उनकी टीम ने सुधार का एक तरीका बताया है. हालांकि कई लोगों के लिए यह पलायन और लोगों की नज़रों से बचने की तरकीब है.

क्या है सेक्स एडिक्शन या हाइपरसेक्शुअलिटी?

'ये पता लगाना बहुत मुश्किल है कि हार्वी वाइन्स्टाइन को सेक्स की लत है या नहीं.' यह कहना है लॉस एंजिसिल के 'सेंटर फॉर हेल्दी सेक्स' के क्लीनिकल डायरेक्टर ऐलेक्जेंड्रा का.

उन्होंने बीबीसी से बातचीत में कहा,''अभी तक हमें मामले के बारे में जितना जानते हैं उस आधार पर कहा जा सकता है कि उन्होंने यौन शोषण किया है. हार्वी ने बिना आपसी सहमति से सम्बन्ध बनाए. हालांकि यह नहीं कहा जा सकता है कि उनके इस बर्ताव के पीछे सेक्स की लत भी थी या नहीं.''

सेक्शुअल एडिक्शन का इलाज करने वाले डॉक्टर अमूमन इन मामलों में काफ़ी सर्तकता बरतते हैं. इसकी एक वजह ये भी है कि मनोचिकित्सा विज्ञान इसे मानसिक बीमारी के तौर पर नहीं देखता.

हालांकि इसे सेक्शुअल एडिक्शन या हाइपरसेक्शुअलिटी कहते हैं. दरअसल ये एक डिसऑर्डर है जिसके लिए कई तरह के इलाज उपलब्ध और पुनर्वास केंद्र हैं. सेक्स की लत का इलाज लंबे वक़्त तक चलता है और ये काफ़ी महंगा होता है.

विशेषज्ञ मानते हैं कि सेक्स का लत का इलाज करने का सबसे अच्छा तरीका है थेरेपी की मदद से यौन इच्छाओँ को क़ाबू में करना. इसके लिए डॉक्टर मरीज से एक तय में सेक्स या मास्टरबेट न करने को कहते हैं.

अतीत और भविष्य में झांकना

आमतौर पर सेक्स एडिक्शन की वजहें बचपन या किशोरावस्था में हुए यौन शोषण जैसी घटनाएं ज़िम्मेदार होती हैं.

इलाज के लिए ये जानना भी ज़रूरी है कि इससे गुजर रहे शख़्स को सेक्स के बाद पछतावा होता है या नहीं.

एलेजेंक्ड्रा कहते हैं,''हम लोगों को एकदम से सेक्स करना छोड़ने के लिए नहीं कहते हैं. हालांकि जैसा हार्वी वाइन्स्टाइन का मामला है, उन्हें किसी महिला के साथ अकेले नहीं रहना चाहिए.''

Tags:    
Share it
Top