Home > Archived > पतंजलि आटा नूडल्स सेहत के लिए खतरनाक निकला जहर

पतंजलि आटा नूडल्स सेहत के लिए खतरनाक निकला 'जहर'

 Special News Coverage |  3 April 2016 9:26 AM GMT

पतंजलि आटा नूडल्स सेहत के लिए खतरनाक निकला 'जहर'

मेरठ : मैगी के बाद अब पतंजलि आटा नूडल्स को भी "घटिया" स्तर का पाया गया है। मेरठ में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन (एफएसडीए) की टीम ने रामदेव के पतंजलि आटा नूडल्स को 'घटिया' स्तर का पाया है। एफएसडीए की टीम ने पतंजलि आटा नूडल्स में ऐश कंटेंट की मात्रा निर्धारित सीमा से लगभग तीन गुना अधिक पाई है। यह मात्रा मैगी सैंपल्स से भी अधिक है।

टीम की तरफ से पतंजलि आटा नूडल्स, मैगी और यिपी नूडल्स के नमूनों पर टेस्ट किए गए थे। ये नमूने टेस्ट के लिए 5 फरवरी 2016 को मेरठ में जमा किए गए थे। टेस्ट रिपोर्ट में इन सभी तीनों नूडल्स ब्रैंड्स के नमूनों में जो ऐश कंटेंट पाया गया है, उसकी मात्रा काफी अधिक है। नियमों के मुताबिक, मैगी में ऐश कंटेट की मात्रा महज एक प्रतिशत तक ही होनी चाहिए। मैगी में ऐश कंटेंट की मात्रा 1.63 प्रतिशत और यिपी में 2.1 प्रतिशत पाई गई।

तीनों नमूने इस टेस्ट में फेल हो गए और उन्हें खाने के लिए बेहद खराब बताया गया है। चीफ फूड सेफ्टी ऑफिसर जेपी सिंह ने कहा कि पतंजलि आटा नूडल्स के सैंपल में ऐश कंटेंट 2.69 प्रतिशत पाया गया है, जोकि तीनों ब्रैंड्स में सबसे ज्यादा है। रिपोर्ट की बात मानें तो खाने के लिए सबसे ज्यादा नुकसानदायक पतंजलि आटा नूडल्स है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top