Breaking News
Home > हेल्थ > शुद्ध देशी घी आपके दिल के लिये अच्छा है या बुरा, जानिये जरुर वरना अनगिनत बिमारियों का होंगे शिकार

शुद्ध देशी घी आपके दिल के लिये अच्छा है या बुरा, जानिये जरुर वरना अनगिनत बिमारियों का होंगे शिकार

घी को लेकर समाज में कई भ्रांतियां फैली हुई है.

 Special Coverage News |  29 Aug 2019 5:56 AM GMT  |  दिल्ली

शुद्ध देशी घी आपके दिल के लिये अच्छा है या बुरा, जानिये जरुर वरना अनगिनत बिमारियों का होंगे शिकार

पहले एक अंसल साहब की कहानी:: करीब एक शताब्दी पहले एक अंसल साहब पढ़ने मे बड़े तेज थे जब वो ग्यारहवीं क्लास मे गये होंगे तो हमारी NCERT की किताबो की तरह उन्हें भी बिज़नेस का उद्देश्य (The main purpose of business is to earn PROFIT) पैसा बनाना बताया गया होगा। अंसल साहब कैलिफोर्निया मे UC Barkley मे पढ़ लिख कर बड़ी Pharma कॉम्पनियों के संपर्क मे आये जिन्होंने अंसल जी को कुछ ऐसी थ्योरी विकसित करने को कहा जिससे उनकी पहल से बनी हुई खून से कोलेस्ट्रॉल घटाने की दवा बेची जा सके। इसमे pharma कॉम्पनियों को कितनी कमाई की संभावना होगी वो आप पोस्ट के अंत तक जान लेंगे। तो ये दवा बेचने का सबसे आसान तरीका था कि किसी तरह खून के अंदर की Fat को सेहत के लिये घातक साबित कर दिया जाये।

लिहाज़ा अंसल साहब ने अपने सहयोगियों से खून मे higher Fat के कारण खोजने को कहा और पाया गया कि processed sugar (चीनी) इसका बड़ा कारण है। जब ये बात चीनी के बड़े उद्योगपतियों को पता लगी तो शुगर लॉबी ने अंसल साहब को 100 मिलियन US डॉलर दिये(ये तथ्य खुद पद्मविभूषण Dr B M हेगड़े ने कहा है) कि इस तथ्य की कोई आंच चीनी उद्योग पर ना आये। अब क्या था अंसल साहब ने 22 देशों के घी और चीनी उपभोग के उपलब्ध डेटा से चीनी का डेटा ड्राप करके ऐसे देश खोजे जहां लोग Fat ज्यादा खाते थे और दिल की बीमारियां भी थी। आखिर उन्हें 22 मे से मात्र 7 ऐसे देश मिल ही गये जहां दोनों गोटी फिट बैठ रही थी। बस अंसल साहब क्या चाहे दो पैसे!! तो उन आंकड़ों को आधार बनाकर उन्होंने "Seven Countries Study" के नाम से Fat दिल के लिए खराब है कहकर 1958-1978 मे एकमात्र रिसर्च पब्लिश कर दी।

CVD (ह्रदय रोग) sick care (Not Healthcare) इंडस्ट्री की दुधारू गाय है। जिससे दुनियाभर मे Pharma लॉबी ने मात्र statin नामक दवा का 14 खरब Rs वार्षिक का व्यापार खड़ा कर लिया। ओर मजेदार बात आपकी जानकारी के लिये बताता चलूं की जिन ह्रदय रोगियों को कोलेस्ट्रॉल घटाने की स्टेटिन दवा दी जाती है उसमें से 40% को 1 साल के अंदर डाइबिटीज हो जाती है। -;)

Prof B M Hegde बताते है कि यूरोप मे बाद मे चली जांच मे पाया गया कि शुगर लॉबी ने Harvard University के 3 वैज्ञानिकों को 50 मिलियन डॉलर देकर Fat से दिल को नुकसान होने वाली अवधारणा स्थापित करवाई थी।

नतीजा:: दवा कंपनियों ने अखबारों/TV के माध्यम से जो गलत तथ्य स्थापित किया उससे अपने बाप दादाओं के ज़माने से खाते आ रहे घी को रावण ओर रिफाइंड कंपनियों के बीमारू तेल को अमृत बनाकर आपकी सेहत को बेतहाशा नुकसान किया। मधुमेह के मरीज पैदा किये। जैसे एक बड़ी रेलगाड़ी स्पीड पकड़ने के बाद रुकने मे लंबा समय लेती है वही काम हमारे शहरियों के साथ Sick Care(Hospitals) उद्योग कर रहा है। याद रहे जब तक आप रिफाइंड खाते रहेंगे आप खुद को हॉस्पिटल उद्योग का चारा बनाकर रखेंगे। या तो सुन लो या ❤️ से हाथ धो लोगे।

Note: Fat दिल के लिये हानिकारक बताने वाली "seven countries study" की जालसाजी समझने के लिये पहला कमेंट पढ़े।

इस बात को किसान और डेरी चलाने वाले महक सिंह तरार ने लिखा है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top