Top
Home > हेल्थ > क्या प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा पानी पीना चाहिए?

क्या प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा पानी पीना चाहिए?

प्रेग्नेंसी के दौरान भी पानी पीने के हैं कई फायदे

 Shiv Kumar Mishra |  19 Feb 2020 7:51 AM GMT  |  दिल्ली

क्या प्रेग्नेंसी के दौरान ज्यादा पानी पीना चाहिए?
x

हमारी शरीर का करीब 60 फीसदी हिस्सा पानी से बना हुआ है। पानी, शरीर के लिए सबसे जरूरी है क्योंकि पानी, हानिकारक टॉक्सिन्स को पसीना और यूरिन के जरिए शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। पानी हमारे शरीर के तापमान को नॉर्मल बनाए रखने में मदद करता है, ब्रेन के सभी फंक्शन्स सही तरीके से हो पाएं इसमें भी हेल्प करता है, पोषक तत्वों को शरीर के अलग-अलग हिस्सों तक पहुंचाने में मदद करता है। कुल मिलाकर देखें तो पानी हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी है और इसके बिना हमारा काम नहीं चल सकता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान भी पानी पीने के हैं कई फायदे

1. पानी, आपके शरीर से न्यूट्रिएंट्स लेकर होने वाले बच्चे तक पहुंचने में मदद करता है

2. शरीर में अमीनो ऐसिड फ्लूइड के लेवल को बरकरार रखने में मदद करता है

3. प्रेग्नेंसी में अक्सर कब्ज, ब्लैडर इंफेक्शन और सूजन की दिक्कत हो जाती है, लेकिन अगर आप नियमित रूप से पानी पीते रहें तो इन समस्याओं से बचा जा सकता है।

क्या प्रेग्नेंट महिला को ज्यादा पानी पीना चाहिए

ऐसे में बड़ा सवाल कि क्या प्रेग्नेंसी के दौरान आम दिनों की तुलना में ज्यादा पीना चाहिए? तो इसका जवाब ये है कि हर महिला की जरूरत और शरीर के हिसाब से पानी की मात्रा अलग-अलग हो सकती है। लेकिन एक जनरल रूल के मुताबिक फिट रहने के लिए हर व्यक्ति को डेली 2-3 लीटर या 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए। पानी की इस लिमिट में पानी के साथ जूस, सूप और वैसे फल और सब्जियां भी शामिल हैं जिनमें पानी होता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान भूल से भी न करें ये 5 गलतियां

जब बात प्रेग्नेंसी की आती है तो ड्रग्स और ऐल्कॉहॉल के अलावा भी कई चीजें जिनसे आपको बचना चाहिए, वैसे तो इन 9 महीनों में आप नॉर्मल लाइफ जी सकती हैं, लेकिन कुछ गलतियां भूल से भी नहीं करनी चाहिए।

27वें हफ्ते के बाद बढ़ाएं पानी का इनटेक

प्रेग्नेंसी के 25-27वें हफ्ते तक तो आप पानी का इनटेक नॉर्मल रख सकती हैं यानी आम दिनों में जितना पानी पीती हैं उतना ही पानी पिएं। लेकिन उसके बाद जैसे-जैसे आपके बच्चे की ग्रोथ बढ़ती जाती है आपको भी अपने पानी और दूसरे लिक्विड फूड्स का इनटेक आधा लीटर के करीब बढ़ाना चाहिए। लेकिन अगर आपका वजन अधिक है या फिर अगर आप ज्यादा खाना खा रही हैं तो आपको ज्यादा पानी पीना चाहिए। साथ ही साथ चाय, सोडा और कैफीन वाली चीजों का सेवन न करें क्योंकि इनसे डिहाइड्रेशन का खतरा रहता है। प्रेग्नेंसी के दौरान अगर डिहाइड्रेशन हो जाए तो इससे न सिर्फ होने वाली मां को थकान महसूस होती है और कब्ज की दिक्कत हो सकती है बल्कि होने वाले बच्चे को भी काफी खतरा रहता है।

प्रेग्नेंसी में डिहाइड्रेशन से बचना है जरूरी

कई बार सही क्वॉन्टिटी में पानी पीने के बाद भी डिहाइड्रेशन हो जाती है और ऐसे में आपको अपना फ्लूइड इनटेक बढ़ाना चाहिए। आप चाहें तो सादे पानी की जगह नारियल पानी, नींबू पानी जैसी चीजें भी पी सकती हैं। आपके शरीर में कहीं पानी की कमी तो नहीं हो रही इसकी जांच के लिए अपने यूरिन के रंग पर नजर रखें। अगर इसका रंग डार्क येलो है तो आपको अपना लिक्विड इनटेक और पीने के पानी की मात्रा को बढ़ाने की जरूरत है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it