Home > बस ड्राइवर के बेटे सादिक खान बने लंदन के पहले मुस्लिम मेयर

बस ड्राइवर के बेटे सादिक खान बने लंदन के पहले मुस्लिम मेयर

 Special News Coverage |  2016-05-07 09:27:44.0

बस ड्राइवर के बेटे सादिक खान बने लंदन के पहले मुस्लिम मेयर

लंदन: ब्रिटेन की राजधानी लंदन में लेबर पार्टी के नेता सादिक खान ने मेयर पद का चुनाव जीत लिया है। इस तरह से सादिक यूरोप के सबसे सबसे बड़े शहरों में से एक लंदन के पहले मुस्लिम मेयर बन गए हैं। उन्होंने कंजरवेटिव पार्टी के प्रत्याशी जैक गोल्डस्मिथ को हराया।

जानकारी के मुताबिक 45 वर्षीय सादिक लंदन के मेयर पद पर चुने जाने वाले पहले मुस्लिम हैं। सादिक खान पाकिस्तानी बस ड्राइवर के बेटे हैं और मां सिलाई करके घर का ख़र्च चलाने में मदद करती थीं। वे दक्षिणी लंदन में रहने वाले एक पाकिस्तानी अप्रवासी परिवार की आठ संतानों में से एक हैं। सादिक़ ख़ान ने एक साधारण सरकारी स्कूल में अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की और फिर वकालत की डिग्री हासिल की। बता दें सादिक के विरोधी कंजरवेटिव पार्टी के प्रत्याशी जैक गोल्डस्मिथ ने हिंदू और सिख वोटर्स को लुभाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी के नाम का भी इस्तेमाल किया।


चुनाव अधिकारियों ने बताया कि सादिक खान ने अपने प्रतिद्वंद्वी कंजर्वेटिव पार्टी के जैक गोल्डस्मिथ को पहली और दूसरी वरियता के क्रम में 3 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से हरा दिया है। यह परिणाम मतदान के 24 घंटे बाद घोषित हुए हैं। सादिक खान ने गोल्डस्मिथ पर आरोप लगाया और कहा कि वे 8.6 मिलियन लोगों के बहुसांस्कृतिक शहर के मतदाताओं के बीच डराने और बंटवारे की राजनीति कर रहे हैं, जिनमें से 1 मीलियन से ज्यादा मुस्लिम हैं। बता दें एक बस ड्राइवर और महिला दर्जी के बेटे 45 वर्षीय सादिक खान का सीधा मुकाबला कंजर्वेटिव पार्टी के 41 वर्षीय जैक गोल्डस्मिथ से था, जो एक अमीर बिजनेसमैन के बेटे हैं।

ब्रिटेन की राजधानी लंदन में मेयर चुने जाने से पहले सादिक खान 2005 से लगातार टूटिंग सते लेबर पार्टी के सांसद हैं। सादिक ने अपने करियर की शुरुआत बतौर मानव अधिकार वकील के तौर पर किया। कुछ साल पहले वह 2009-10 में बतौर गॉर्डन ब्राउन गवर्नमेंट में मंत्री भी थे।

चुनाव में मतदाताओं को मेयर के तौर पर पहली और दूसरी पसंद चुनने का मौका दिया गया था। इसके अलावा मतदाताओं को लंदन एसेंबली के दो तरह के सदस्यों को भी चुनना था, जिनमें एक उनके इलाके का हो और दूसरा शहर के लिए। सादिक खान खुद को ऐसा ब्रिटिश मुस्लिम कहते हैं जो चंरमपंथ के खिलाफ लड़ेगा। उन्होंने गोल्डस्मिथ पर आरोप लगाया और कहा वे 8.6 मीलियन लोगों के बहुसांस्कृतिक शहर के मतदाताओं के बीच डराने और बंटवारे की राजनीति कर रहे हैं, जिनमें से 1 मीलियन से ज्यादा मुस्लिम हैं। सादिक खान ने कहा, 'मैं हमेशा थोड़ा चिंतित रहता हूं, मुझे प्रचार करना पसंद है, मुझे लंदनवासियों से बात करना पसंद है।'

Tags:    
Share it
Top