Top
Home > Archived > पेरिस अटैक के बाद मुस्लिम जिस खौफ में जी रहा है, मैं उसकी कल्पना कर सकता हूं- जकरबर्ग

पेरिस अटैक के बाद मुस्लिम जिस खौफ में जी रहा है, मैं उसकी कल्पना कर सकता हूं- जकरबर्ग

 Special News Coverage |  10 Dec 2015 6:24 AM GMT


FaceBook CEO Mark Zuckerberg

जकरबर्ग ने अपने स्टेटस में लिखा, 'अपने समाज के साथ-साथ दुनिया भर के मुसलमानों के लिए मैं अपना समर्थन जताना चाहता हूं। पेरिस हमले के बाद मुसलमानों में जिस तरह दूसरे समाज से प्रतिक्रिया और नफरत का डर पनप रहा है, उसकी मैं कल्पना भर कर सकता हूं। 'जकरबर्ग आगे लिखते हैं, एक यहूदी के तौर पर परिवार ने मुझे किसी भी समुदाय पर हो रहे हमलों के खिलाफ खड़ा होना सिखाया है। ऐसे हमले भले ही आज आपके खिलाफ नहीं हैं, लेकिन आने वाले वक्त में किसी की भी आजादी पर होने वाले ये हमले हर किसी को नुकसान पहुंचाएंगे।



अमेरिका में मुसलमानों के प्रवेश को लेकर रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रम्प की टिप्पणी आने के बाद अब फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने भी मुस्लिमों से जुड़ा एक बयान जारी किया है। हालांकि जकरबर्ग का बयान पूरी दुनिया में बसे मुस्लिम समुदाय के समर्थन में है।


जकरबर्ग ने कहा कि मैं दुनिया भर में बसे और फेसबुक पर मौजूद मुस्लिम समुदाय के लोगों का समर्थन करता हूं और उनकी आवाज के साथ अपनी आवाज जोड़ना चाहता हूं। उन्होंने कहा, पेरिस अटैक और हाल ही में हुई घटनाओं के चलते मुसलमान जिस खौफ में जी रहे हैं। मैं उसकी कल्पना कर सकता हूं। उन्हें डर है कि किसी और के किए की सजा उन्हें न दे दी जाए।

फेसबुक पर लिखी पोस्ट
फेसबुक पर लिखी एक पोस्ट में जकरबर्ग ने कहा कि एक यहूदी होने के नाते मेरे माता-पिता ने सिखाया है कि हमें हर समुदाय पर हो रहे हमलों के खिलाफ खड़े होना चाहिए. अगर हम पर सीधे कोई हमला नहीं होता तो भी, किसी और पर किया गया हमला सबकी आजादी को चोट पहुंचाएगा।

I want to add my voice in support of Muslims in our community and around the world.After the Paris attacks and hate...

Posted by Mark Zuckerberg on Wednesday, December 9, 2015


'सुरक्षित और शांतिपूर्ण माहौल के लिए लड़ेंगे'
जकरबर्ग ने फेसबुक पर मौजूद मुस्लिमों के लिए लिखा, 'अगर आप एक मुस्लिम हैं तो फेसबुक के लीडर के तौर पर मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि यहां हमेशा आपका स्वागत है और हमेशा आपकी आजादी और अधिकारों के लिए लड़ेंगे। साथ ही आपके लिए एक सुरक्षित और शांतिपूर्ण माहौल बनाने के लिए भी लड़ेंगे।'


बेटी के आने से बढ़ी हैं उम्मीदें'
हाल में पिता बनने वाले जकरबर्ग ने कहा कि बेटी के आने से हमारी उम्मीदें काफी बढ़ी हैं, लेकिन नफरत का जो दौर है वह लोगों को निराशा का शिकार बना सकता है। हमें उम्मीद नहीं छोड़नी चाहिए. अगर हम साथ खड़े रहेंगे तो एक-दूसरे की अच्छाइयां देख पाएंगे और साथ मिलकर सबके लिए एक अच्छी दुनिया बनाएंगे।

बता दें कि अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रम्प ने देश में मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगाने की बात कही थी। जिसके बाद दुनियाभर में इस बयान की आलोचना शुरू हो गई।


Full of joy with little Max.

Posted by Mark Zuckerberg on Tuesday, December 8, 2015


फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग बीते सप्ताह ही बेटी के पिता बने हैं। जकरबर्ग ने फेसबुक पर इस बात की जानकारी देते हुए कहा, 'इस संसार में अपनी बेटी मैक्स का स्वागत करते हुए मैं और प्रिसिला बहुत खुश हैं। जकरबर्ग ने बताया कि बेटी के जन्म पर उन्होंने उसके लिए एक चिट्ठी लिखी है जिसमें उस दुनिया का जिक्र है जिसमें वह पलेगी और बढ़ेगी। यह एक ऐसी दुनिया है जहां लोग एक दूसरे की क्षमताओं की कद्र करके और बराबरी को प्रोत्साहित इसे और बेहतर बना सकते हैं. लोग खुद सीखें और दूसरों को भी बताएं, लोगों से जुड़ें, गरीबी मिटे और सभी को समान अधिकार मिलें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it