Top
Home > Archived > यौन उत्पीड़न पर योग गुरु बिक्रम चौधरी पर 6 करोड़ का जुर्माना

'यौन उत्पीड़न' पर योग गुरु बिक्रम चौधरी पर 6 करोड़ का जुर्माना

 Special News Coverage |  26 Jan 2016 2:05 PM GMT

Yog Guru


वाशिंगटन : अमेरिका की एक अदालत ने भारतीय मूल के योगगुरु बिक्रम चौधरी पर यौन उत्पीडन के मामले में छह करोड का जुर्माना लगाया है। बिक्रम चौधरी पर उनकी पूर्व वकील के साथ यौन उत्पीडन का आरोप है।

बिक्रम योगा के 69 वर्षीय संस्थापक योगगुरु पर आरोप है कि उसने यौन उत्पीड़न की जांच कर रही वकील का यौन उत्पीड़न किया। वकील मीनाक्षी जफा-बोड्डेन ने अपनी याचिका में आरोप लगाया था कि चौधरी के लिए काम करते हुए उसे लैंगिक भेदभाव, गलत तरह से बर्खास्तगी और यौन उत्पीड़न झेलना पड़ा। लॉस एंजिलिस ज्यूरी ने तकरीबन एक दिन तक इसपर चर्चा की और मीनाक्षी के पक्ष में सर्वसम्मत फैसला किया।


वहीं, गवाही के वक्त योगगुरु ने यौन उत्पीड़न के आरोपों से पूरी तरह इनकार किया। चौधरी ने दावा किया कि कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार और उत्पीड़न के आरोप ‘झूठे’ हैं। उन्होंने सफाई में कहा कि मीनाक्षी को 2013 में हटा दिया गया, क्योंकि उसके पास अमेरिका में वकालत का लाइसेंस नहीं था। हालांकि ज्यूरी ने पाया कि उन्होंने विद्वेष, दमन और फरेब से काम किया। इस तरह मीनाक्षी को मुआवजा की इजाजत मिल गई।

मीनाक्षी का आरोप था कि योगगुरू ने 2011 में उसे रजामंद किया कि वह उसकी (चौधरी की) वकील के तौर पर काम करने के लिए अपने देश भारत लौट जाए। मीनाक्षी ने आरोप लगाया कि नौकरी के दौरान योगगुरु ने उसका यौन उत्पीड़न किया और उसपर अश्लील टिप्पणियां की।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it