Home > अमेरिका ने पाकिस्तान को चेताया, आतंक के खिलाफ पाक की निर्णायक कार्रवाई का इंतजार...

अमेरिका ने पाकिस्तान को चेताया, आतंक के खिलाफ पाक की निर्णायक कार्रवाई का इंतजार...

क्षिण और केंद्रीय एशिया से जुड़े मामलों के कार्यवाहक असिस्टेंट सेक्रटरी और अफगानिस्तान व पाकिस्तान में विशेष प्रतिनिधि एलिस जी. वेल्स ने कहा कि अब पाकिस्तान के ऊपर है कि वह कौन सी रणनीति अपनाता है.

 Ekta singh |  2017-10-28 06:00:53.0  |  नई दिल्ली

अमेरिका ने पाकिस्तान को चेताया, आतंक के खिलाफ पाक की निर्णायक कार्रवाई का इंतजार...

नई दिल्ली: अमरीकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन की चेतावनी के बाद अब अमरीका ने एक बार फिर सख्ती दिखाई. अमेरिकी विदेश मंत्री ने एक दिन पहले आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान को फटकार लगाया था. अमरीका ने पाकिस्तान को स्पष्ट कहा की अब वह आतंकवाद पर ढुलमुल रवैये को बर्दाश्त नहीं कर पायेगा.

इस बीच अमेरिका के टॉप डिप्लोमेट ने कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए यूएस पूरे ध्यान से पाकिस्तान पर नजरें जमाए हुआ है.

ट्रंप प्रशासन ने कहा कि अमेरिका इतंजार कर रहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ आने वाले कुछ हफ्तों में कार्रवाई करेगा.

दक्षिण और केंद्रीय एशिया से जुड़े मामलों के कार्यवाहक असिस्टेंट सेक्रटरी और अफगानिस्तान व पाकिस्तान में विशेष प्रतिनिधि एलिस जी. वेल्स ने कहा कि अब पाकिस्तान के ऊपर है कि वह कौन सी रणनीति अपनाता है.

एलिस जी. वेल्स अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के दक्षिण और केंद्रीय एशिया के दौरे पर भी उनके साथ थीं. वेल्स ने कहा, 'अब यह पाकिस्तान के ऊपर है, अमेरिका कुछ थोपने नहीं जा रहा है.

वेल्स ने कहा कि हमने अपनी रणनीति के बारे में बताया और उसमें पाकिस्तान की बहुत ही अहम भूमिका के बारे में बताया जिसे हम क्षेत्र में एक काफी अहम देश के तौर पर देखते हैं. लेकिन अब यह उन पर है कि वह इस रणनीति पर हमारे साथ काम करना चाहता है या नहीं.

वेल्स ने टिलरसन की बात को दोहराते हुए कहा कि अगर पाकिस्तान अपने देश में आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने में नाकाम होता है तो हम अपने तरीके से निपटने की कोशिश करेंगे.

वेल्स ने कहा कि पाकिस्तान में तालिबान और हक्कानी नेटवर्क ने फिर से अपनी ताकत को पा लिया है. वेल्स के अनुसार, पाकिस्तान ने 2014 में आतंकी संगठनों को हराने के लिए शानदार रणनीति बनाई थी और काफी हद तक सफलता भी मिली थी.

हालांकि, आंतकी संगठनों ने उस दौरान पाकिस्तान सरकार को निशाना भी बनाया था. वेल्स ने कहा कि हम चाहते हैं कि पाकिस्तान फिर से ऐसी ही रणनीति बनाएं, जिससे कि उनके जमीन का प्रयोग आतंक फैलाने के लिए रोका जा सके.






Tags:    
Share it
Top