Home > इस्राइल के नए दोस्त हैं सऊदी अरब व संयुक्त अरब अमीरात

इस्राइल के नए दोस्त हैं सऊदी अरब व संयुक्त अरब अमीरात

इस्राइल के पूर्व युद्धमंत्री मूशे यालून ने इस बात ज़ोर देते हुए कहा कि संयुक्त अरब इमारात और सऊदी अरब के हित, इस्राईल के हितों से जुड़े हुए हैं और रियाज़ व अबू धाबी हमारे नए दोस्त हैं।

 Majid Khan |  2017-10-03 09:45:03.0  |  सऊदी

इस्राइल के नए दोस्त हैं सऊदी अरब व संयुक्त अरब अमीरात

इस्राइल के पूर्व युद्धमंत्री मूशे यालून ने इस बात ज़ोर देते हुए कहा कि संयुक्त अरब इमारात और सऊदी अरब के हित, इस्राईल के हितों से जुड़े हुए हैं और रियाज़ व अबू धाबी हमारे नए दोस्त हैं। मूशे यालून ने अपने एक बयान में सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात की नीतियों की सराहना करते हुए उन्हें इस्राईल के नए दोस्त बताया है।

उन्होंने बल देकर कहा कि इन दोनों देशों के हित इस्राईल से समन्वित हैं। ज़ायोनी शासन के पूर्व युद्ध मंत्री ने कहा कि अरब जगत में कुछ लोग हैं जो सीरिया के राष्ट्रपति बश्शार असद के विरोध हैं और उनकी नीतियों को स्वीकार नहीं करते, अब उन्होंने अपनी नीतियों पर पुनर्विचार शुरू कर दिया है और क्षेत्र में नए दोस्तों की तलाश में हैं।

उन्होंने कहा कि सऊदी अरब व संयुक्त अरब इमारात उन्हीं में शामिल हैं और उन्होंने कहा है कि उनके हित इस्राईल के हितों से समन्वित हैं और इस प्रकार अब तेल अवीव के कुछ नए दोस्त हैं। सऊदी अरब व संयुक्त अरब इमारात, इस्लामी जगत की इच्छाओं के विपरीत, इसराइल से जिसने फ़िलिस्तीन पर अवैध क़ब्ज़ा कर रखा है, औपचारिक रूप से संबंध स्थापित करने की कोशिश में हैं। इस मामले में इस्लामी जगत में आम जनमत में इन दोनों देशों के प्रति बहुत अधिक नाराज़गी पाई जाती है

Tags:    
Share it
Top