Home > जब जिन्ना की बेटी ने पारसी परिवार से कर ली शादी, आगबबूला हो गए थे जिन्ना

जब जिन्ना की बेटी ने पारसी परिवार से कर ली शादी, आगबबूला हो गए थे जिन्ना

पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की पुत्री दीना वाडिया का आज न्यूयॉर्क स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। वाडिया समूह के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। वह 98 वर्ष की थीं।

 आनंद शुक्ल |  2017-11-03 09:34:12.0  |  नई दिल्ली

जब जिन्ना की बेटी ने पारसी परिवार से कर ली शादी, आगबबूला हो गए थे जिन्ना

नई दिल्ली: पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की पुत्री दीना वाडिया का आज न्यूयॉर्क स्थित उनके आवास पर निधन हो गया। वाडिया समूह के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। वह 98 वर्ष की थीं। प्रवक्ता ने यहां जारी एक बयान में कहा कि दीना वाडिया के परिवार में उनके पुत्र एवं वाडिया समूह के अध्यक्ष नुसली एन वाडिया हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं दीना वाडिया के बारे में एक ऐसी बात जो बहुत कम लोग जानते हैं। जी हां... दीना की लव स्टोरी, जो मोहम्मद अली जिन्ना को कबूल नहीं थी। उनके एक कदम से जिन्ना आगबबूला हो गए थे। दीना ने भारतीय पारसी से शादी की थी।

बेटी को हुआ था भारतीय से प्यार

दीना, जिन्ना और रति की संतान हैं। राजनीति में उतरने के बाद जिन्ना ने अपने परिवार को काफी समय दिया। वो अक्सर देश से बाहर रहते थे। जिस वक्त उनकी बेटी दीना पैदा हुई (15 अगस्त 1919) उस वक्त जिन्ना अमेरिका में थे। उस वक्त जिन्ना मुस्लिम छवी वाले उभरते नेता थे। इसी कारण उन्होंने अपनी पारसी पत्नी रति से दूरी बना ली। दीना जब 10 साल की थीं तो उनकी मां रति की मौत हो गई। जिसके बाद उन्होंने जिन्ना से दूरी बना ली।

पिता के खिलाफ जाकर की शादी

करीम छागला की जिन्‍ना पर लिखी किताब के मुताबिक, दीना ने जब जिन्ना से नेविली से शादी करने की बात की तो वो नाराज हो गए और सवाल पूछा- 'सारे मुस्लिम छोड़कर तुम्हें क्या सिर्फ वो पारसी पसंद आया.' जिसका दीना ने जवाब देते हुए कहा- 'इस देश में हजारों मुस्लिम लड़कियां थीं फिर आपको शादी करने के लिए मेरी मां ही मिली थीं।' जिसके बाद जिन्ना कुछ नहीं बोल पाए और पिता के खिलाफ जाकर उन्होंने नेविली से शादी कर ली।

घर पर लगाए थे भारत-पाक के झंडे
विभाजन के बाद डीना के सामने सबसे बड़ी मुश्‍किल थी कि वह किसे अपना देश चुनें। एक तरफ भारत था जहां उन्‍होंने शादी की, दूसरा उनके पिता द्वारा बनाया गया पाकिस्‍तान था। दोनों देशों से मोह होने के कारण उन्‍होंने कराची से कहीं दूर बम्बई के कोलाबा के एक फ्लैट में अपनी बालकनी पर दो झंडे लगाए थे। एक भारत का, दूसरा पाकिस्तान का। डीना के परिवार में उनके पुत्र एवं वाडिया समूह के अध्यक्ष नुसली एन. वाडिया, पुत्री डी.एन. वाडिया और पोते नेस और जेह हैं।

Tags:    
Share it
Top