Home > बोरियत दूर करने के लिए नर्स ने 100 से ज्यादा मरीजों की ली जान

बोरियत दूर करने के लिए नर्स ने 100 से ज्यादा मरीजों की ली जान

होजेल पर उत्तरी ब्रेमेन के एक अस्पताल में ICU में भर्ती चार और मरीजों की हत्या की कोशिश का भी आरोप है.

 Ekta singh |  2017-11-11 06:44:40.0  |  नई दिल्ली

बोरियत दूर करने के लिए नर्स ने 100 से ज्यादा मरीजों की ली जान

नई दिल्ली: जर्मनी के पुरुष नर्स ने बोर होने पर 100 से अधि‍क मरीजों की हत्‍या का शक है. उसने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उसे मजा आता था. हैवानियत की इस घटना ने हर किसी को हैरान कर दिया है. दुनिया में शायद ही कभी पहले ऐसा हुआ हो.


बता दें कि पुलिस ने बीते अगस्त में बताया था कि होजेल ने करीब 90 अन्य मरीजों की हत्या की हैं. पुलिस ने गुरुवार को बताया कि उन्होंने कई हत्याओं की जांच पूरी कर ली हैं. उन्होंने हेजेल को 16 और हत्याओं का दोषी माना हैं. वर्ष 1999 से 2005 के बीच होजेल दो स्थानीय अस्पतालों में नर्स था और इसी दौरान उसने मरीजों की हत्या की हैं.
जांचकर्ताओं ने बताया कि मरने वाले लोगों की संख्या ज्यादा भी हो सकती है क्योंकि कुछ और शवों का परीक्षण किया जा रहा है. नील्स होजेल (41) नामक यह पुरुष नर्स 2015 में दो हत्याओं के मामले में आजीवन कारावास की सजा भुगत रहा है होजेल पर उत्तरी ब्रेमेन के एक अस्पताल में ICU में भर्ती चार और मरीजों की हत्या की कोशिश का भी आरोप है.
जांचकर्ताओं ने नर्स नील्‍स के हॉस्‍पिटल में रहते जिन मरीजों की मौत हो गई थी उनकी जांच पूरी कर ली है. नील्‍स पर आरोप है कि वो मरीजों को जानबूझ कर ड्रग्स की अधिक मात्रा देता था. इस वजह से मरीजों को हार्ट अटैक आ जाता था.
अभियोजन पक्ष की ओर से कहा गया कि जांच में मरीजों की मौत कारण ड्रग्‍स का ओवरडोज है. ऐसे में नील्‍स का इन मौतों में शामिल होने की शंका है. इससे पहले अभियोजन पक्ष ने अगस्त में कहा था कि उनका मानना है कि नर्स ने कम से कम 84 और मरीजों की हत्या की है.
होजेल के ट्रायल के दौरान कहा था कि उसने डेल्‍मेंहोर्स हॉस्‍पिटल में करीब 90 मरीजों की जानबूझ कर हृदय गति रोकी थी क्‍योंकि उसे लोगों को पुर्नजिवित करना था. बाद में उसने ये भी कबूल किया कि उसने ओल्‍डेनबर्ग हॉस्‍पिटल में भी ऐसा किया था.
पुलिस का इन मामलों में कहना है कि अगर अस्‍पताल प्रशासन ने समय रहते इसकी जानकारी दी होती तो होजेल पर पहले ही कार्यवाही की जाती.

Tags:    
Share it
Top