Home > यमन के एक करोड़ बच्चों को मानवीय मदद की ज़रूरत है: ओसीएचए

यमन के एक करोड़ बच्चों को मानवीय मदद की ज़रूरत है: ओसीएचए

 Majid Ali Khan |  2017-09-19 09:30:12.0  |  दिल्ली

यमन के एक करोड़ बच्चों को मानवीय मदद की ज़रूरत है: ओसीएचए

ईरान की समाचार एजेन्सी इरना के अनुसार, ओसीएचए ने अपने ट्वीटर पेज पर कहा है कि सऊदी सेना के यमन पर हमले और इस देश में झड़प के कारण यमनी नागरिकों में ख़ास तौर पर बच्चों को मूल चीज़ों की बहुत ज़्यादा ज़रूरत है।

संयुक्त राष्ट्र संघ के मानवीय मामलों के समन्वय कार्यालय के अनुसार, यमन के 2 करोड़ 10 लाख नागरिकों को मानवीय मदद की ज़रूरत है कि इनमें 1 करोड़ लोगों को अपनी जान बचाने के लिए तुरंत मानवीय मदद की ज़रूरत है। इस रिपोर्ट के अनुसार, यमन पर सऊदी अरब के अतिक्रमण की सबसे ज़्यादा मार बच्चों पर पड़ी है। बड़ी संख्या में यमनी बच्चे कुपोषण और हैज़े का शिकार हैं।

इसके अलावा सऊदी हमलों में अब तक सैकड़ों मासूब बच्चे हताहत हुए हैं। इससे पहले यूनिसेफ़ ने कहा था कि 27 अप्रैल 2017 से अब तक डेढ़ लाख यमनी बच्चे हैज़े और 3 लाख 80000 कुपोषण का शिकार हुए हैं। सऊदी अरब के अमरीका के समर्थन से यमन पर 26 मार्च 2015 से हमले जारी हैं। सऊदी अरब ने यमन की ज़मीनी, हवाई और समुद्री नाकाबंदी कर रखी है। यमन पर सऊदी अरब के हमलों में अब तक 12000 यमनी नागरिक हताहत और दसियों हज़ार घायल हुए हैं

Tags:    
Share it
Top