Home > रेडियो स्टेशन से किया ऐलान, गैर-मुस्लिम डॉक्टरों की कभी न मानें ये सलाह

रेडियो स्टेशन से किया ऐलान, गैर-मुस्लिम डॉक्टरों की कभी न मानें ये सलाह

एक रेडियो स्टेशन ने अपने श्रोताओं को एक अनोखी सलाह प्रसारित कर विवादों के घेरे में आ गया है। एक इस्लामिक विद्वान ने इस रेडियो स्टेशन पर श्रोताओं को...

 Vikas Kumar |  2017-12-21 12:30:02.0  |  नई दिल्ली

रेडियो स्टेशन से किया ऐलान, गैर-मुस्लिम डॉक्टरों की कभी न मानें ये सलाह

नई दिल्ली : एक रेडियो स्टेशन ने अपने श्रोताओं को एक अनोखी सलाह प्रसारित कर विवादों के घेरे में आ गया है। एक इस्लामिक विद्वान ने इस रेडियो स्टेशन पर श्रोताओं को गैर-मुस्लिम डॉक्टरों की इस सलाह को कभी न मानने को कहा है।

दरअसल ईस्ट मिडलैंड्स के एक रेडियो स्टेशन पर फोन-इन-शो में इस्लामिक विद्वान ने श्रोताओं से कहा कि गैर-मुस्लिम डॉक्टरों की सलाह पर डायबिटीज के मरीज रमजान के दिनों में रोज़ा रखना नहीं छोड़ें। रेडियो स्टेशन पर शो के दौरान डायबिटीज के साथ रोज़ा रखने पर चर्चा हो रही थी।

इस शो में सलाह देने वाले स्कॉलर को 'मुफ्ती' बताया गया था। मुफ्ती ने एक कॉलर को बताया कि अगर कोई गैर-मुस्लिम डॉक्टर सलाह दे रहा है तो उनकी सलाह पर बिल्कुल भी ध्यान देने की जरूरत नहीं है क्योंकि उनकी सलाह कोई मायने नहीं रखती है।

आपको बता दें इस रेडियो स्टेशन को वॉलंटियर्स चलाते हैं। नियामक संस्था ऑफकॉम ने इसे 'काफी हानिकारक', भेदभाव और घृणा पैदा करने वाला और आपत्तिजनक पाया है। करीमिया इंस्टीट्यूट जहां यह कम्युनिटी रेडियो स्टेशन स्थित है। उनकी तरफ से अभी तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Tags:    
Share it
Top