Home > फ्लाइट में हरासमेंट की शिकार हुईं फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग की बहन

फ्लाइट में हरासमेंट की शिकार हुईं फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग की बहन

यह घटना लॉस एंजिलिस से मेक्सिको के मजट्लैन जा रही फ्लाइट में हुई. रैंडी ने इस घटना को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

 Ekta singh |  2017-12-02 05:20:35.0  |  नई दिल्ली

फ्लाइट में हरासमेंट की शिकार हुईं फेसबुक संस्थापक मार्क जुकरबर्ग की बहन

नई दिल्ली: फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग की बहन रैंडी जकरबर्ग अलास्का एयरलाइंस की फ्लाइट में छेड़छाड़ की शिकार हुई हैं. यह घटना लॉस एंजिलिस से मेक्सिको के मजट्लैन जा रही फ्लाइट में हुई. रैंडी ने इस घटना को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

रैंडी जकरबर्ग ने अलास्का एयरलाइन के एग्जीक्यूटिव को भी एक पत्र लिखा है. इस पत्र में उन्होंने बताया कि उनके पास बैठे यात्री की वजह से वह बेहद असहज थीं. वह उन पर और फर्स्ट क्लास में बैठे अन्य यात्रियों पर सेक्सुअल और भद्दी टिप्पणियां कर रहा था. इसके बावजूद इसे शराब परोसा जा रहा था.

रैंडी ने बताया कि वह आदमी लगातार सेक्सुअल कमेंट करता रहा और उन्हें खुद को छूने के लिए कहता रहा.. उस यात्री ने रैंडी से यह भी पूछा था कि क्या वह उसके बारे में फैंटसाइज कर रही हैं. वह महिला यात्रियों की बॉडी पर लगातार भद्दे कमेंट्स कर रहा था.

रैंडी जकरबर्ग ने बताया कि उन्होंने उस यात्री की शिकायत फ्लाइट अटेंडेंट्स से भी की थी. लेकिन उन्होंने इस मामले को हल्के में लेने का प्रयास किया. रैंडी के मुताबिक फ्लाइट अटेंडेंट ने उनसे कहा कि वह व्यक्ति उस रूट पर रेगुलर फ्लायर है.

रैंडी के मुताबिक उनसे कहा गया कि इन बातों को वह पर्सनली न लें. उनसे कहा गया कि उन्हें उस यात्री से परेशानी है तो वह प्लेन के पीछे की तरफ की सीट पर बैठ सकती हैं.

उन्होंने लिखा कि वह सीट बदलने के लिए तैयार भी हो गई थीं. लेकिन फिर उन्हें अहसास हुआ कि वह पीड़ित हैं फिर भी उन्हें ही सीट बदलने के लिए क्यों कहा जा रहा है?

रैंडी ने जानकारी दी कि एयरलाइन ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है.

अलास्का एयरलाइन ने कहा कि उन्होंने रैंडी जकरबर्ग से इस संबंध में बात की और जांच पूरी होने तक उस यात्री पर रोक लगा दी गई है.

एयरलाइन लिखा, "हम चाहते हैं कि हमारे यात्री सुरक्षित महसूस करें. एक कंपनी के तौर पर हम ये बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेंगे कि विमान में कोई सेक्सुअल कमेंट करे जिससे हमारे यात्री और क्रू मेंमबर्स असुरक्षित महसूस करें."


Tags:    
Share it
Top