Home > अंतर्राष्ट्रीय > बुरा फंसा पाकिस्तान : 14 अगस्त को आवाम के सामने क्या मुंह लेकर जाएंगे इमरान खान?

बुरा फंसा पाकिस्तान : 14 अगस्त को आवाम के सामने क्या मुंह लेकर जाएंगे इमरान खान?

पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाता है. इस बार आजादी की 73वीं सालगिरह पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पाकिस्तान का झंडा फहराएंगे. लेकिन सवाल उठता है कि उसके बाद पाकिस्तान की आवाम के सामने इमरान खान क्या मुंह लेकर जाएंगे?

 Special Coverage News |  13 Aug 2019 3:37 PM GMT  |  दिल्ली

बुरा फंसा पाकिस्तान : 14 अगस्त को आवाम के सामने क्या मुंह लेकर जाएंगे इमरान खान?

14 अगस्त को पाकिस्तान (Pakistan) अपनी आजादी (Independence) की 72वीं सालगिरह मनाने जा रहा है. हिंदुस्तान से एक दिन पहले पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है. इस बार भी 14 अगस्त को पाकिस्तान में आजादी का जश्न मनाया जाएगा. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) पाकिस्तान का झंडा फहराएंगे. लेकिन सवाल उठता है कि उसके बाद पाकिस्तान की आवाम के सामने इमरान खान क्या मुंह लेकर जाएंगे? पाकिस्तान की जनता के सामने इमरान खान क्या बोलेंगे? जिस यकीन के साथ पाकिस्तान की जनता ने उन्हें चुना है, आजादी के दिन वो जनता को क्या जवाब देंगे?

ये सवाल इसलिए भी अहम हो गया है क्योंकि कश्मीर के ताजा हालात की वजह से भारत-पाकिस्तान के रिश्ते तल्ख हो चुके हैं. कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने का फैसला भारत का अंदरूनी मामला था. लेकिन पाकिस्तान ने इसके खिलाफ बवाल खड़ा कर दिया.

कश्मीर भारत का अटूट हिस्सा है, इसलिए उससे जुड़ा हर फैसला केंद्र सरकार लेने के लिए स्वतंत्र है. लेकिन कश्मीर में अमनचैन की सुगबुगाहट से ही पाकिस्तान को मिर्ची लगने लगती है. वो किसी भी तरह से कश्मीर मसले को उलझाए रखना चाहते हैं. कश्मीर का नाम ले लेकर पाकिस्तान सरकार अपनी नाकामियों से आवाम का ध्यान हटाने का आजमाया फंडा अपनाती रही हैं. इमरान खान की सरकार भी वही कर रही है और 14 अगस्त के उनके भाषण में भी उसी की झलक देखने को मिल सकती है.

फिर कश्मीर का नाम लेकर गरजेंगे इमरान खान

14 अगस्त को पाकिस्तान अपनी स्वतंत्रता की 72वीं सालगिरह मनाएगा. इस दिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर मसले पर एक बार फिर हिंदुस्तान के खिलाफ आग उगल सकते हैं. पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था अपने सबसे खराब दौर में है. पाकिस्तान कर्ज के बोझ तले दबा है. रोटी-रोजगार का वहां गंभीर संकट खड़ा हो गया है. जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने में इमरान सरकार नाकाम रही है. एक कश्मीर मसला ही है, जो पाकिस्तान की आवाम का ध्यान भटका सकता है. इसलिए बहुत संभव है कि इमरान खान अपने भाषण में भारत को जीभर के कोसें.

कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खात्म के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भड़काऊ बयान दे रहे हैं. सबसे पहले उन्होंने कहा कि कश्मीर से स्पेशल स्टेट्स का दर्जा हटते ही वहां पुलवामा जैसी घटना होगी. ये एक तरह से पाकिस्तान की भारत को धमकी थी.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top