Top
Begin typing your search...

झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी की भाजपा में हुई वापसी

झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी की भाजपा में हुई वापसी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झारखंड। झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) प्रमुख बाबूलाल मरांडी सोमवार को भाजपा में शामिल हाे गए। उनके साथ झाविमो के कई पदाधिकारी भी भाजपा में शामिल हुए। इसके बाद झाविमो के एक गुट का भाजपा में विलय हो गया। भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने बाबूलाल मरांडी को माला पहनाकर पार्टी में स्वागत किया।

बताते चलें कि विधायक झाविमो विधायक बंधु तिर्की के आवास पर विक्षुब्ध जुटे़. इसमें एलान किया गया कि पार्टी के दो विधायक सहित पार्टी ने कांग्रेस में विलय का निर्णय लिया है़. श्री तिर्की ने पत्रकारों को बताया कि हम भाजपा में नहीं जा सकते है़ं. पार्टी के नेताओं ने कांग्रेस में जाने का निर्णय लिया है़ विधायक के रूप में हम उनके निर्णय के साथ है़ं श्री तिर्की ने बताया कि विलय का प्रस्ताव कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया गया है़

2006 में भाजपा से अलग हो गए थे बाबूलाल

माना जा रहा है कि भाजपा में झाविमो के विलय के बाद पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व बाबूलाल मरांडी को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बना सकता है। बाबूलाल मरांडी 14 साल बाद भाजपा में घर वापसी किया। झारखंड के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी आरएसएस के पूर्व नेता हैं। 2006 में भाजपा से अलग होकर उन्होंने नई पार्टी बना ली थी। हालांकि उनकी पार्टी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा और लगातार गिरता गया। 2009, 2014 और 2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में पार्टी को 11, आठ और तीन सीटों पर ही जीत मिली।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it