Top
Begin typing your search...

झारखंड में सोरेन सरकार, 11वें CM बने हेमंत, 3 मंत्रियों ने भी ली शपथ

झारखंड में सोरेन सरकार, 11वें CM बने हेमंत, 3 मंत्रियों ने भी ली शपथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने रांची में झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. हेमंत सोरेन दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं.

पाकुड़ से कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम ने हेमंत सरकार कैबिनेट में मंत्रीपद की शपथ ली है. आलमगीर आलम झारखंड के स्पीकर भी रह चुके हैं.

शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए बड़े नेताओं ने रांची पहुंचकर शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया. राहुल गांधी भी मंच पर मौजूद हैं. अबतक छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत, प. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी भी मंच पर मौजूद हैं. इनके अलावा असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गगोई, बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, शरद यादव, डीएमके नेता एमके स्टालिन, टीआर बालू, संसद कनिमोझी, सीपीआई नेता डी राजा और अतुल अंजान भी मौजूद हैं।



हेमंत सोरेन 19 साल पहले बने झारखंड के 11वें मुख्यमंत्री होंगे। हेमंत के साथ कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और लोहरदगा से विधायक रामेश्वर उरांव, पाकुड़ से कांग्रेस विधायक आलमगीर आलम और राजद विधायक सत्यानंद भोक्ता मंत्री पद की शपथ लेंगे।



शपथ ग्रहण को लेकर रांची के मोहराबादी मैदान में दस हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है. मुख्य मंच के अलावा तीन वाटर प्रूफ हैंगर बनाये गए हैं. कार्यक्रम में काफी संख्या में वीवीआईपी और वीआईपी के आगमन को लेकर जिला प्रशासन की ओर से पास निर्गत किया गया है. पास धारक ही वाहन के साथ मोहराबादी मैदान पहुंच सकते हैं.

झामुमो कोटे से स्टीफन मरांडी ले सकते हैं मंत्री पद की शपथ

प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने पुष्टि की है कि कांग्रेस के कोटे से पार्टी प्रदेश अध्यक्ष और लोहरदगा से विधायक चुने गए रामेश्वर उरांव को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी। विधायक आलमगीर आलम भी मंत्री पद की शपथ लेंगे, इसकी पुष्टि कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने की। झामुमो कोटे से स्टीफन मरांडी के भी मंत्री पद की शपथ ले सकते हैं।

हालांकि, पार्टी की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है। देर रात तक हेमंत सोरेन की ओर से शपथ लेने वाले अन्य मंत्रियों की सूची राजभवन नहीं भेजी गई है। ऐसी संभावना है कि झामुमो और कांग्रेस के अन्य मंत्रियों को विधानसभा के विशेष सत्र के बाद शपथ दिलाई जाएगी।

डिप्टी सीएम पर झामुमो और कांग्रेस के बीच देर रात तक खींचतान

पार्टी सूत्रों ने बताया कि डिप्टी सीएम, स्पीकर और मंत्री पदों को लेकर झामुमो और कांग्रेस के बीच शनिवार देर रात तक खींचतान चलती रही। इस कारण मंत्रिमंडल का स्वरूप तय नहीं हो पा रहा है। कांग्रेस स्पीकर के साथ-साथ उप मुख्यमंत्री का पद भी चाह रही है, जिस पर झामुमो तैयार नहीं है। दिन में भी आरपीएन सिंह व अजय शर्मा ने हेमंत सोरेन से उनके अावास पर मुलाकात की।

15 जनवरी के बाद अन्य विधायक लेंगे शपथ

जानकारी के मुताबिक, हेमंत मंत्रिमंडल के बचे मंत्रियों के नाम पर कोई सहमति नहीं बन पाई है। सूत्रों के मुताबिक, 30 दिसंबर को दिल्ली में बुलाई गई एक बैठक में मंत्रियों के नाम पर गठबंधन के नेताओं में सहमति बन सकती है। इसके बाद अन्य मंत्री 15 जनवरी के बाद पद एवं गोपनियता की शपथ लेंगे।

रघुवर दास भी आएंगे

हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को कार्यवाहक मुख्यमंत्री रघुवर दास को फोन करके अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। हेमंत ने बताया कि रघुवर ने इसमें उपस्थित रहने पर अपनी सहमति दी है। इसके साथ ही भाजपा के अन्य नेताओं को भी निमंत्रण भेजा गया है।

हेमंत सोरेन दूसरी बार बनेंगे सीएम

हेमंत सोरेन दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले हेमंत ने जुलाई 2013 में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। जेएमएम-राजद-कांग्रेस के साथ मिलकर उन्होंने 1 साल 5 महीने 15 दिनों तक सरकार चलाई थी। हेमंत के पिता शिबु सोरेन भी 3 बार राज्य के सीएम रहे हैं। तीनों कार्यकालों में वह सिर्फ 10 महीने 5 दिन ही मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे, जो हेमंत के एक कार्यकाल से काफी कम है।

झारखंड विधानसभा का चुनाव परिणाम

झारखंड की 81 विधानसभा सीट पर हुए चुनाव में हेमंत सोरेन की अगुवाई में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन 47 सीट हासिल की है। झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) को 30, कांग्रेस को 16 और आरजेडी को 1 सीट मिली है, जबकि 3 सीट हासिल करने वाली बाबूलाल मरांडी की झाविमो भी गठबंधन सरकार को समर्थन दे रही है। बीजेपी को चुनाव में 25 सीट मिली जबकि आजसू को 2 सीटें हासिल हुई है।

Arun Mishra

About author
Sub-Editor of Special Coverage News
Next Story
Share it