Home > Archived > राफिया नाज के घर पर पत्थरबाज़ी, फिर से मिली जान से मारने की धमकी!

राफिया नाज के घर पर पत्थरबाज़ी, फिर से मिली जान से मारने की धमकी!

बाबा रामदेव के साथ योग शिविर में नजर आ चुकीं रांची में हटिया के डोरंडा इलाके की रहने वाली राफिया नाज योग सिखाकर अपनी आजीविका चलाती हैं।

 आनंद शुक्ल |  11 Nov 2017 5:46 AM GMT  |  नई दिल्ली

राफिया नाज के घर पर पत्थरबाज़ी, फिर से मिली जान से मारने की धमकी!

रांची: झारखंड की राजधानी रांची में हटिया इलाके में रहने वाली मुस्लिम योग टीचर राफिया नाज के योग सिखाने के खिलाफ उनके समुदाय से मिली धमकी और उसके घर पर कथित तौर पर कुछ लोगों द्वारा पत्थर फेंकने के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रांची के पुलिस उपाधीक्षक विकासचंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि राफिया को मंच पर योग करने के खिलाफ उसके समुदाय के ही कुछ लोगों ने धमकी दी थी। इसकी उसने दो दिनों पहले वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कुलदीप द्विवेदी से शिकायत की थी। इसके बाद उसे पुलिस सुरक्षा दी गई थी।

रांची की रहने वाली है राफिया

राफिया रांची में डोरांडा की रहने वाली है और काफी समय से योग सिखाने का काम करती है। एक साधारण परिवार से ताल्‍लुक रखने वाली राफिया पर अब तरह-तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। उसका कसूर इतना था कि उसने योग गुरू बाबा रामदेव के साथ योग का मंच शेयर किया था। इसके बाद से वह कट्टरपंथियों के निशाने पर है। इतना ही नहीं शुक्रवार को एक निजी चैनल पर प्रसारित एक कार्यक्रम के दौरान जब राफिया अपने घर से लाइव थी तभी उसके घर पर पत्‍थरबाजी की गई और उसके घर को कट्टरपंथियों ने घेर लिया। हालांकि इसके बाद उसकी सुरक्षा के मद्देनजर वहां पर दो पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है।

पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

श्रीवास्तव ने कहा कि शुक्रवार को एक टीवी चैनल पर उसका साक्षात्कार दिखाए जाने के बाद कथित तौर पर कुछ लोगों ने उसके घर पर पत्थर फेंके। इसके बाद खुद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उसके घर का दौरा कर उससे और उसके परिजनों से मुलाकात की और उसे पूरी सुरक्षा का आश्वासन दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है और पूछताछ के लिए कुछ लोगों को थाने बुलाया गया है।

इस बीच राफिया नाज के घर पर पुलिस की दो क्विक रिस्पॉन्स टीम भी तैनात कर दी गई हैं। उसके घर की सुरक्षा की जिम्मेदारी क्षेत्र के पुलिस उपाधीक्षक विकास पांडेय खुद देख रहे हैं। पुलिस का कहना है कि इस मामले को कुछ लोगों ने अधिक तूल दिया, जबकि ऐसी बात नहीं थी।

गौरतलब है कि बाबा रामदेव के साथ योग शिविर में नजर आ चुकीं रांची में हटिया के डोरंडा इलाके की रहने वाली राफिया नाज योग सिखाकर अपनी आजीविका चलाती हैं। योग सिखाने के चलते उनके खिलाफ कथित तौर पर फतवे के जरिये धमकाया गया था। इसके बाद इस मामले ने तूल पकड़ा था।

योग को बीच धर्म को लाना गलत

राफिया के घर पर हुई पत्‍थरबाजी की योग गुरू बाबा रामदेव ने तीखी निंदा की है। बाबा रामदेव ने कहा कि ईरान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और सऊदी अरब के कई मुसलमान योग का अभ्यास करते हैं। योग एक व्यायाम है, जो शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। इसमें धर्म को बीच में नहीं लाना चाहिए।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top