Home > लाइफ स्टाइल > पति या बॉय फ्रेंड होने के बावजूद अधिकतर लड़कियां क्यों चाहती हैं दूसरा पार्टनर?

पति या बॉय फ्रेंड होने के बावजूद अधिकतर लड़कियां क्यों चाहती हैं दूसरा पार्टनर?

 Special Coverage News |  13 Nov 2019 9:21 AM GMT  |  दिल्ली

पति या बॉय फ्रेंड होने के बावजूद अधिकतर लड़कियां क्यों चाहती हैं दूसरा पार्टनर?

आजकल रिश्तों में असुरक्षा की भावना लगातार बढ़ती जा रही है. रिलेशनशिप से लेकर शादी तक के रिश्ते में लोग एक-दूसरे पर ये भरोसा करने से डरते हैं कि उनका पार्टनर हमेशा उनका साथ देगा कि नहीं. गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड और लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में इसकी संभावना कुछ ज्यादा ही होती है.

आपको शायद यकीन हो लेकिन हर काम की तरह अब रिलेशनशिप में भी प्लान बी बनाया जाने लगा है. प्लान बी यानी बैकअप पार्टनर. एक स्टडी में इस बात की जानकारी आई है.

डेली मेल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, लगभग 50 फीसदी महिलाएं अपने ब्रेकअप के समय के लिए एक बैकअप प्लान रखती हैं. जिसका मतलब ये है कि महिलाओं के दिमाग में अक्सर एक दूसरे पुरुष का भी ख्याल रहता है, जिसे वो ब्रेकअप के समय प्लान बी की तरह इस्तेमाल करती हैं.

चौंकाने वाली बात ये है कि दूसरा विकल्प रखने के मामले में रिलेशनशिप में रहनी वाली महिलाओं की अपेक्षा शादीशुदा महिलाएं ज्यादा आगे हैं.

आखिर ये बैकअप पार्टनर क्या होता है? स्टडी के अनुसार, ज्यादातर मामलों में ये कोई पुराना दोस्त हो सकता है जिसके दिल में उस महिला के लिए पहले से ही कोई खास फीलिंग रही हो.

ये एक्स ब्वॉफ्रेंड या एक्स हसबैंड भी हो सकता है. स्टडी की मानें तो दूसरे विकल्प के तौर पर ऑफिस का कोई सहकर्मी या जिम फ्रेंड भी महिलाओं के दिमाग में रहते हैं.

इस सर्वे में करीब 1000 महिलाओं ने हिस्सा लिया और इनमें से ज्यादातर महिलाओं का कहना था कि वो कोई ऐसा प्लान बी चाहती हैं जिसे वो लंबे समय से जानती हों.

वहीं, हर 10 में से किसी 1 महिला का कहना था कि उनके बैक-अप पार्टनर अपनी भावनाओं का इजहार पहले ही कर चुके हैं. ज्यादतर महिलाओं का ये भी कहना था कि मौजूदा रिलेशनशिप में ही उन्हें इस बात का अंदाजा है कि इसके बाद कौन उनका प्लान बी बन सकता है.

कुछ महिलाओं ने तो ये भी माना है कि उनके बैकअप पार्टनर के लिए भी वो ठीक वैसा ही महसूस करती हैं जैसा कि अपने वर्तमान पार्टनर के साथ.

स्टडी के अनुसार 12 फीसदी महिलाओं का कहना था कि उनके करंट पार्टनर की तुलना में प्लान बी पार्टनर की तरफ उनकी फीलिंग ज्यादा स्ट्रांग है.

सर्वे में हिस्सा लेनी वाली ज्यादातर महिलाओं ने ये भी स्वीकार किया कि उनके करंट पार्टनर को उनके बैकअप प्लान के बारे में जानकारी है.

सर्वे के अनुसार जहां कुछ महिलाओं के पार्टनर बैकअप प्लान से संबंधित हंसी-मजाक आराम से कर लेते थे वहीं कुछ लोग बैकअप प्लान की चर्चा से ही असहज हो जाते हैं.

ज्यादातर महिलाओं का कहना था कि उनके बैकअप पार्टनर करंट पार्टनर के ही दोस्त हैं. वहीं सर्वे में कुछ ऐसी भी महिलाएं थी जिनका मानना था कि वो अपने प्लान बी को लेकर पूरी तरह से सुनिश्चित नहीं हैं.

एक ऑनलाइन मार्केट रिसर्च कंपनी के स्पोक्समैन ने सर्वे पर डेली मेल को बताया कि महिलाओं के प्लान बी पर किए गए हमारे इस रिसर्च के परिणाम चिंतित करने वाले हैं.

इस खबर से कुछ पुरुष परेशान भी हो सकते हैं. हो सकता है कि वो अपने पार्टनर को लेकर पहले से भी सजग हो जाएं और उनके साथ अच्छे तरीके से ही पेश आएं ताकि उनके साथी को प्लान बी की जरूरत ही न महसूस हो.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top