Top
Home > लाइफ स्टाइल > क्योंi भारतीय दर्शकों के दिलों के बेहद नजदीक रही हैं जासूसी कहानियाँ और उनके दिलचस्प किरदार

क्योंi भारतीय दर्शकों के दिलों के बेहद नजदीक रही हैं जासूसी कहानियाँ और उनके दिलचस्प किरदार

नए दौर के श्रोताओं की फरमाइशों के मद्देनज़र, डिटेक्टिव बूमराह हर बार यह संदेश दे जाते हैं कि कुछ भी नामुमकिन नहीं है।

 Shiv Kumar Mishra |  15 July 2020 12:38 PM GMT  |  दिल्ली

क्योंi भारतीय दर्शकों के दिलों के बेहद नजदीक रही हैं जासूसी कहानियाँ और उनके दिलचस्प किरदार
x

1887 में शरलॉक होम्सक नाम के बेहद लोकप्रिय काल्पसनिक जासूसी किरदार ने साहित्यW की दुनिया में कदम रखा था। सर आर्थर कॉनन डॉयल ने 'ए स्ट डी इन स्काीरलेट' में पहली बार शरलॉक होम्स को पेश किया था। देखते ही देखते लोगों को यह यकीन होने लगा था कि शरलॉक होम्सा कोई वास्तनविक व्य क्ति है, यहां तक कि सर आर्थर के पास अनगिनत चिटि्ठयां आने लगी थीं जिनमें शरलॉक के ऑटोग्राफ मांगे जाते थे और उनसे मुलाकात करने की इच्छाकएं दर्ज होती थीं। शरलॉक होम्स का किरदार पाठकों के लिए बेहतरीन संदर्भ बन चुका था। इसके बाद चलन शुरू हुआ ऐसे ही जासूसी किरदारों का, जिनहोने अपनी खास पहचान बनाने के साथ-साथ अपनी कहानियों से पाठकों के दिलो-दिमाग में अपनी एक अलग जगह बनायी।

भारतीय पाठकवर्ग भी साहित्यब की दुनिया में हुए इस बदलाव से अछूता नहीं रहा। धोती-कुर्ता धारण करने वाले ब्योगमकेश बक्शीय से लेकर गाजर चबाने वाले करमचंद और हैट पहने सैम डि'सिल्वा तक को भारतीय दर्शकों तथा पाठकों ने खूब सराहा। इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि किसी जासूसी कहानी में भारतीय जासूस के रूप में पहला किरदार अंग्रेज़ लेखक एचआरएफ कीटिंग ने रचा था। यह किरदार था गणेश घोटे का जो बॉम्बेर पुलिस विभाग में पुलिस इंस्पेफक्टेर था। इंस्पेिक्टार घोटे 'द परफैक्टथ मर्डर' से हाथों-हाथ ख्याुति पा चुके थे। यह किरदार इतना प्रसिद्ध हुआ कि नसीरुद्दीन शाह और ज़‍िया मोहिदि्दन जैसे जाने-माने अभिनेताओं ने परदे पर उनकी भूमिकाएं निभायीं।

गणेश घोटे के अलावा, भारतीय दर्शकों/पाठकों ने सत्यपजित रे के काल्पननिक जासूसी पात्र फेलूदा, सुनील गंगोपाध्यावय के काकाबाबू, शरदिन्दुो बंदोपाध्यारय के ब्यो।मकेश बक्शीर और पंकज प्रकाश-अनिल चौधरी के करमचंद जासूस को भी अपने दिलों में जगह दी है। हाल में इस श्रेणी में शामिल किए जाने वाले सबसे प्रसिद्ध किरदार का नाम है डिटेक्टिव बूमराह, जो कहानीकार सुधांशु राय द्वारा रचित एक चतुर और साहसी जासूसी किरदार है|

डिटेक्टिव बूमराह अपनी तेज-तर्रार और पैनी निगाह के अलावा हिम्मती और निडरता जैसी खूबियों के चलते बहुत ही कम समय में लोगों के पसंदीदा जासूसी किरदार बन गए हैं। नए दौर के श्रोताओं की फरमाइशों के मद्देनज़र, डिटेक्टिव बूमराह हर बार यह संदेश दे जाते हैं कि कुछ भी नामुमकिन नहीं है।

इन जासूसी किरदारों की सफलता और लोकप्रियता के पीछे एक और बड़ा कारण है कि इनके रचनाकार किसी भी रहस्य की गुत्थीर सुलझाने की प्रक्रिया में इन जासूसों के साथ-साथ पाठकों को भी बराबरी का अवसर देते हैं। ये जासूस एकदम सहज तरीके से हर मामले को सुलझाते हैं।

ऐसे में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि जासूसी कथाएं आज स्टोलरीटेलिंग यानी कहानी सुनाने के लिहाज से सबसे ज्यानदा पसंद की जाती हैं। माध्य म भले ही उपन्याास हो, मूवी या फिर कोई वेब सीरीज़, एक अच्छाय जासूसी किरदार पाठकों/दर्शकों को हमेशा लुभाता है।

क्या आप जानते हैं कि डिटेक्टिव बूमराह कैसे दिखायी देते हैं? इस लोकप्रिय किरदार का पहला लुक जल्दव ही आपके सामने आने वाला है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it