Top
Home > लाइफ स्टाइल > गरीबों की देशी फ़्रिज!

गरीबों की देशी फ़्रिज!

 Special Coverage News |  25 May 2019 10:02 AM GMT  |  दिल्ली

गरीबों की देशी फ़्रिज!
x

तेज गर्मी चिल-चिलाती धुप में तन से मानो पसीना निकलने के बाद घर लौट पानी और ठण्ड हवा की चाहत बढ़ जाती है जब की ठन्डे और शीतल पानी पीने की लालसा अधिक होती है बड़े घराने से लेकर माध्यम वर्ग में ठन्डे पानी की कमी को फ्रीज़ व हवा को एसी तो दूर कर देती है लेकिन वही गरीब वर्ग का आम आदमी फ्रीज़ का पानी नहीं पी पायेगा न ही वह एसी का हवा ले पायेगा है| इस लिए इन गरीबो के पास इलेक्ट्रोनिक फ्रीज़ व एसी तो नहीं है गर्मी से बचने के लिये आम आदमी क्या उपाय कर रहा है पर ये गर्मी है कि शांत होने का नाम ही नहीं ले रहे इस तपन वाली गर्मी से जहा लोग अपनी दिनों के काम को जल्द निपटा कर वापस अपने घर जाकर ऐसी व फ्रिज के ठन्डे पानी का अन्नंद ले रहे है ! तो वही आम आदमी इस गर्मी से बचने के लिये कुम्हार द्वारा बनाये गये सुराही व घड़े और हवा के लिए देशी कूलर को खरीद कर आनन्द उठा रहे है ! हा लेकिन जो घड़े और सुराही के रूप में बाज़ार में उपलब्ध है और इन्हें लेने की लिए आदमियों की होड़ लगी है वही ग्राहकों की माने तो कि 12 से 18 हज़ार फ्रिज और 35-40 हज़ार रुपये के ऐसी यह नहीं खरीद सकते है इसलिए देशी सामानो को तीस से चालीस रुपए के दाम में बिकने वाले इस देसी फ्रिज और ऐसी व कूलर 3-5 हज़ार रुपये तक आसानी से मिल जाते है जिसे हर कोई असानी से खरीद कर इसका आनन्द ले रहा है।

तेज गर्मी से बचने के लिये आम जनमानस तरह तरह के उपाए कर रहा है ! कोई धूप से बचने के लिये अपने दिन का काम निपटा कर जल्द ही अपने घर पर पहुच जाता है पर गरीबी में जीवन यापन करने वालो के साथ साथ इस तपती गर्मी से बचने के लिये लोग अब देशी फ्रिज व् देशी एसी की दुकान पर जमकर खरीदारी कर रहे है ये देसी फ्रिज कुम्हार अपने चाक से बनाता है इस देसी फ्रिज की खासियत यह है की यह बिना बिजली के शुद्ध वह शितिल जल देता है ! आम लोगो की बजट में रहने वाले इस फ्रिज को वह भी खरीदते है जिनके पास इलेक्तार्निक फ्रिज है वह भी इस देशी फ्रिज को खरीद रहे है| और वही एक इतनी महंगी एसी तो ले नहीं सकता लेकिन एसी जैसा हवा लेने का आनन्द हाथ का बनाया हुआ देशी कूलर से लेते हैबिल भी कम आता है जिसको गरीब आदमी बड़े ही आसानी से दे सकता है।

वैसे तो जब से आरामदायक सामान मार्केट में आये है तब से कुम्हारो व् मिस्त्री के इस खानदानी धंधे को तो मानों ग्रहण सा लग गया पर इस तेज तपिश वाली गर्मी में आम जनमानस को एक बार फिर इन कुम्हारो व मिस्त्रियों की ज़रुरत आन पड़ी है और कुम्हारो द्वारा बनाये गये इन देसी फ्रिजो को आम लोग खरीदने को मजबूर है कारण तेज धूप से बचने के लिये और गर्मी से राहत के लिए इनकी खरीदारी कर रहे है !

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it