Home > लाइफ स्टाइल > डिज़्नी की स्टार बेला थॉर्न क्यों बनाने लगीं पोर्न फ़िल्में? दर्दनाक कहानी टॉपलेस तस्वीरों से लेकर पोर्न वीडियो तक का सफर

डिज़्नी की स्टार बेला थॉर्न क्यों बनाने लगीं पोर्न फ़िल्में? दर्दनाक कहानी टॉपलेस तस्वीरों से लेकर पोर्न वीडियो तक का सफर

 Special Coverage News |  22 Oct 2019 3:28 PM GMT  |  दिल्ली

डिज़्नी की स्टार बेला थॉर्न क्यों बनाने लगीं पोर्न फ़िल्में? दर्दनाक कहानी टॉपलेस तस्वीरों से लेकर पोर्न वीडियो तक का सफर

एक समय डिज़्नी टीवी की चर्चित अभिनेत्री रहीं बेला थॉर्न ने पिछले दिनों घोषणा की कि वो पोर्न दिखाने वाली वेबसाइट पोर्नहब के साथ मिलकर काम करेंगी ताकि 'रिवेंज पोर्न' को इससे दूर रख सकें.

हम ओंटारियों के सडबरी में उनके किराये के घर में बैठे थे. यह लग्ज़री घर एक शांत क़स्बे में जहां शरद ऋतु के चलते मैपल के पत्तों के गिरने का दौर शुरू हो गया है. थॉर्न तीन महीने के लिए यहां आई हैं. मिकी रुरके के साथ वे फ़िल्म 'गर्ल' में काम कर रही हैं जिसमें वो एक ऐसी युवा महिला की भूमिका निभा रही हैं जो अपने होमटाउन पहुंचकर अपने पिता का क़त्ल करना चाहती है जिसने उसका उत्पीड़न किया था.

हमारे साथ बातचीत के दौरान एक समय ऐसा आया जब बेला थोर्ने रोने लगती हैं. उनका एक पालतू ऑस्ट्रेलियन शेपर्ड कुत्ता, उनके घुटने के चारों ओर परेशान होकर घूमने लगता है. हम उनसे स्लट-शेमिंग, अवसाद, सोशल मीडिया पर बुली किए जाने पर बात कर चुके थे. इस पर भी बात हो चुकी थी कि कैसे उनके चेहरे को इस्तेमाल करके हज़ारों फ़र्ज़ी पोर्न वीडियो बना दिए गए.

इस बारे में थॉर्न ने कहा, "इस तरह की बातें मुझे बहुत उदास कर देती हैं. मुझे दुनिया से नफऱत होने लगती है." लेकिन इनमें से किसी बात को लेकर उनकी आंखों से आंसू नहीं निकले थे.

चाइल्ड मॉडल का सफ़र

एक साल हो चुका है जब 22 साल की बेला थॉर्न ने दुनिया के सामने अपना दिल खोलकर रख दिया था. उन्होंने अपने जीवन में उत्पन्न निराशा, अकेलेपन और यौन उत्पीड़न के अनुभवों पर आधारित बेहद निजी कविताएं लिखीं और इन कविताओं को सिरीज़ के तौर पर अपनी पहली पुस्तक 'द लाइफ़ ऑफ़ अ वॉनबी मुग़ल-मेंटल डिसरे' का प्रकाशन कराया था.

वह बताती हैं कि जब महज नौ साल की थीं तभी एक मोटरबाइक हादसे में उनके पिता का निधन हो गया था. इस दुखद घटना के बाद उनका चाइल्ड मॉडल वाला करियर तेजी से आगे बढ़ा और वे डिज़्नी चैनल के कॉमेडी सीरियलों में दिखने लगीं.

वह रोमांटिक अटेंशन पाने की चाहत और अपनी सेक्शुअल लाइफ़ को लेकर मीडिया के बहुत तवज्जो दिए जाने पर विचार करती हैं. वह कहती हैं, "क्या ये इसलिए हुआ कि पूरी ज़िंदगी में मेरा शोषण होता रहा? बहुत कम उम्र में ही सेक्स से मेरा वास्ता हो गया था. क्या इसी कारण मुझे लगता था कि मेरे पास स्वाभाविक तौर पर बस यही एक चीज़ है?"

उनकी कविताओं का संकलन, जिसमें उन्होंने कई शब्दों की स्पेलिंग को ग़लत ही रहने दिया है, प्रकाशन के कई सप्ताह बाद अभी भी अमेज़न की बेस्टसेलर सूची में शामिल है. इस साल जून में, किताब के प्रमोशन के सिलसिले में कहीं बाहर गईं थीं. तब बेला को एक ऐसे नंबर से टेक्स्ट मेसेज मिले जिन्हें वह पहचान नहीं पा रही थीं लेकिन इन संदेशों से उनका सिर चकराने लगा था.

बेला याद करते हुए बताती हैं, ''मैं एक इंटरव्यू से बाहर निकल रही थी. मैं लगभग रो रही थी. किताब के बारे में बात कर रही थी और तब मैंने अपना फ़ोन देखा और मुझे अपनी नग्न तस्वीर नज़र आई.''

ये वो तस्वीर है जो उन्होंने एक बार अपने पूर्व प्रेमी को भेजी थी. इसे देख बेला सकते में आ गई थीं. उन्होंने अपने मैनेजर को फ़ोन किया और फिर एजेंट को फोन करके सलाह मांगी. इसके बाद एक दिन सुबह-सुबह फिर उनके फ़ोन पर मेसेज का अलर्ट आया. और भी कई दूसरे टॉपलेस फ़ोटो उनके इनबॉक्स में आ चुके थे. इस बार तस्वीरें उनकी कुछ मशहूर दोस्तों की भी थी.

टॉपलेस तस्वीरें

अपनी किताब में बेला ने उस यौन उत्पीड़न का विस्तार से ज़िक्र किया है जो उन्हें बचपन में झेलना पड़ा था. हालांकि उन्होंने यौन शोषण करने वाले की पहचान ज़ाहिर नहीं की है.

उन्होंने ये भी बताया है कि उनके अंदर इस बात का डर पैदा हो गया था कि शायद कोई उनपर विश्वास नहीं करेगा. ऐसे में उन्होंने उस अपराध के बारे में किसी को नहीं बताया. टॉपलेस तस्वीरों को देखने के बाद उनके दिमाग़ में एक बार फिर से वही सबकुछ चलने लगा.

बेला ने सोचा कि एक बार फिर से वही सब शुरू होने वाला है. वो बताती हैं, "मुझे लगा कि मेरे जीवन की डोर किसी और के हाथ में है और वही मेरे बारे में फ़ैसले ले रहा है. कोई फिर से मुझसे वही करवा रहा है जो मैं नहीं करना चाहती और ख़ासकर सेक्स को लेकर."

इसके बाद उन्होंने एक फ़ैसला लिया. उन्होंने अपने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल किया. ट्विटर पर बेला के 70 लाख फ़ॉलोअर हैं, इंस्टाग्राम पर उसके फॉलोअरों की संख्या 2.2 करोड़ हैं जबकि फ़ेसबुक पर उसके 90 लाख फ़ोलोअर हैं.

अपने इन सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर बेला ने अपनी टॉपलेस तस्वीरें जारी कर दीं, इसके साथ ही उन्होंने हैकर की ओर से भेजे गए धमकाने वाले मेसेज का स्क्रीनशॉट भी शेयर कर दिया. इसके साथ ही उन्होंने लिखा, "मैं इसे इसलिए जारी कर रही हूं क्योंकि मेरा फ़ैसला ये है कि तुम लोग मुझसे मेरा कुछ भी नहीं ले सकते हो."

हालांकि बेला के इस फ़ैसले पर लोगों की बंटी हुई राय देखने को मिली. अमरीकन चैट शो 'द व्यू' की वूपी गोल्डबर्ग ने बेला को तस्वीरें जारी करने के बजाय इस बात के लिए फटकार लगाई कि ऐसी तस्वीरें खिंचवाई ही क्यों थीं.

गोल्डबर्ग ने यह भी कहा, "अगर आप मशहूर हैं, तो मुझे इस बात की परवाह नहीं है कि आप कितने साल के हैं. आपको अपनी नग्न तस्वीरें नहीं लेनी चाहिए. गोल्डबर्ग ने अपने कार्यक्रम के पैनल डिस्कशन में कहा, जब आप ऐसी तस्वीर लेती हैं तो वे क्लाउड में जाती हैं और फिर उन्हें हैक किया जा सकता है. अगर आपको 2019 में ये बात नहीं पता तो माफ़ करें, ये एक समस्या है."

बेला थॉर्न ने गोल्डबर्ग को इसका जवाब इंस्टाग्राम पर ही दिया और उनके कॉमेंट्स को घटिया और अपमानजनक बताया. थॉर्न ने यह भी कहा कि उन्हें ज़्यादा दुख इसलिए हो रहा है क्योंकि ऐसी महिला ने ये टिप्पणियां कीं जिनका वह सम्मान करती रही हैं.

कैसे बनाए फ़ेक पोर्न वीडियो

बेला थॉर्न ने यह भी कहा कि जब युवा खुद को अपमानित और असुरक्षित महसूस कर रहे हों, ऐसे वक़्त में उनकी सार्वजनिक आलोचना से उनकी दिमाग़ी स्थिति और बिगड़ेगी.

बेला ने कहा, "अगर किसी युवा लड़की या लड़के की ऐसी तस्वीर स्कूल में फैल जाए तो वे आत्महत्या करने के बारे में सोचने लगेंगे."

बेला ने जो अपनी तस्वीरें ऑनलाइन शेयर कीं, वे उनकी असली टॉपलेस तस्वीरें हैं जो पहली बार इंटरनेट पर आईं. मगर बेला के कई ऐसे पोर्न वीडियो पहले से उपलब्ध हैं जो दरअसल उनके हैं ही नहीं. ये सभी डीपफ़ेक वीडियो हैं जिनमें सेक्स करती किसी अभिनेत्री के चेहरे पर बेला का चेहरा चिपका दिया गया है.

ऐसे वीडियो बनाने वाले तकनीक के माध्यम से मनमाफ़िक बदलाव कर सकते हैं. हैरान और विचलित करने वाले एक वीडियो में हस्तमैथुन कर रही एक महिला के चेहरे पर बेला का चेहरा लगाया गया है और उसके ऊपर रोने की आवाज़ लगाई गई है. यह आवाज़ बेला के एक असली वीडियो की है जिसमें वह अपने पिता को याद करके रो रही थीं.

बेला थॉर्न बीबीसी से बताती हैं, "यह वीडियो पूरी तरह फैल गया है और हर कोई सोच रहा है इस वीडियो में मैं ही हूं. ऊपर से उन्होंने इस वीडियो में सबटाइटल लगाए हैं- - डैडी, डैडी!"

आम लोगों के पासहोगी डीप फ़ेक तकनीक

सॉफ्टवेयर डेवेलवरों ने बीबीसी को बताया है कि केवल एक तस्वीर से इसी तरह के फ़र्ज़ी वीडियो बनाने की तकनीक एक साल के भीतर आम लोगों के लिए उपलब्ध होगी. इस बात पर बेला चिंतिंत हैं.

बेला कहती हैं, "तब केवल किसी मशहूर हस्ती के साथ ही ऐसा नहीं होगा. बल्कि कम उम्र की लड़कियों के फ़र्जी पोर्न बनाने का सिलसिला निकल पड़ेगा."

बेला के मुताबिक़, ऐसे वीडियो का इस्तेमाल बदला लेने, ब्लैकमेल करने या फिर युवा महिलाओं से फिरौती वसूलने में किया जाएगा और इन महिलाओं के पास मेरी तरह सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की ताकत भी नहीं होगी जिसके दम पर वे इसे झूठा बता सकें.

इसके बाद हमने ऑर्न से उनकी निर्देशित फ़िल्म पर बात की. बतौर निर्देशक पहली ही अडल्ट फ़िल्म 'हर एंड हिम' के लिए उन्हें अवॉर्ड तो मिले ही, कुछ अप्रत्याशित भी हुआ.

उन्होंने बताया कि फ़िल्म निर्देशित करने का फ़ैसला इसलिए लिया क्योंकि इंडस्ट्री को महिला निर्देशकों की ज़रूरत है. इससे फ़ीमेल सेक्शुअलिटी को दर्शाने वाली स्टोरी में बदलाव देखने को मिलेगा.

इसके बाद मैंने उनसे बीबीसी की हाल की एक पड़ताल पर प्रतिक्रिया देने को कहा. इस पड़ताल में बीबीसी ने पाया कि पोर्नहब वेबसाइट, उन फ़िल्मों से मुनाफ़ा कमा रही है जिन फिल्मों को कथित तौर पर रिवेंज पॉर्न या बदला लेने वाले पोर्न वीडियो कहा जा रहा है.

रिवेंज पॉर्न वे वीडियो होते हैं जिन्हें आमतौर पर कपल आपसी सहमति से अंतरंग पलों के दौरान शूट करते हैं मगर बाद में उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए या फिर ब्रेकअप हो जाने पर बदनाम करने के लिए सार्वजनिक कर दिया जाता है या फिर पोर्न वेबसाइटों पर शेयर कर दिया जाता है.

थॉर्न ने जब पहली बार बीबीसी की रिपोर्ट के बारे में सुना तो उनका भरोसा डगमगाता दिखा. उन्होंने बताया, "मैं नहीं जानती थी." उनकी आंखों से आंसू निकलने लगे. वह कहने लगीं, "आप जब कुछ चीज़ों से जुड़ते हैं और सोचते हैं कि आपके काम से चीज़ें बेहतर होंगी. मैंने कोशिश की और मदद की और फिर एक दिन ऐसा पता चलता है..."

उनकी आवाज टूटने लगी. मैंने उनसे कहा कि आप चाहें तो बाद में पोर्नहब के बारे में कुछ और कह सकती हैं. रिसर्च करके इस बारे में अपना जवाब दे सकती हैं. उन्होंने मुझसे कहा, "मैं नहीं चाहती कि झूठी साबित होऊं. लिहाजा इस बारे में मैं अपनी पहली प्रतिक्रिया पर क़ायम रहना चाहूंगी."

हमारा इंटरव्यू पूरा हो चुका था.

पोर्नहब वेबसाइट का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी माइंडगीक ने बीबीसी को बताया, "हम अपने यहां उपभोक्ताओं को कॉन्टेंट शेयर करने और देखने के लिए सुरक्षित स्पेस उपलब्ध करवाते हैं. हम नहीं चाहेंगे कि अपने यहां रिवेंज पोर्न को जगह देकर इसे नुक़सान पहुंचाएं."

होटल के कमरे में पहुंचने पर मुझे थॉर्न की असिस्टेंट का मेसेज मिला. वह मुझे एक इवेंट में बुला रही थीं. इवेंट का नाम था- 'मेक श्योर योर फ्रेंड्स आर ओके.' यह डिप्रेशन के ख़िलाफ़ था.

यह थॉर्न के लिए महत्वपूर्ण लक्ष्य है और वह चाहती हैं कि उनके प्रशंसक इस बारे में ज़रूर जानें. तीन दिन बाद मैं उस इवेंट में थी.

बेला ने यहां कहा, "जब मैं बड़ी हो रही थी तो आसपास में एकाध लोग डिप्रेशन के शिकार मिलते थे. लेकिन इन दिनों आप जिसे भी जानते हैं, वह डिप्रेशन मे है. इसके पीछे कोई ना कोई वजह तो होगी. मेरे ख्याल से यह वजह है कि हम सोशल मीडिया के दौर में बड़े हो रहे हैं."

जब मैं पार्टी से निकल रही थी तो थॉर्न की दोस्त ने मुझे बताया कि आपलोगों के इंटरव्यू के बाद उसने सीधा पोर्नहब को फोन किया था और कहा था कि हमें एक घोषणा करनी चाहिए.

बाद में उसी सप्ताह, थॉर्न को बतौर निर्देशक पहली अडल्ट फिल्म 'हर एंड हिम' के लिए के लिए सम्मानित किया गया. यह सम्मान उन्हें पोर्नहब अवॉर्ड्स के दौरान ही दिया गया. उन्होंने पोर्नोग्राफिक फिल्मों में अधिक महिला निर्देशकों को अपनाने के लिए अडल्ट फ़िल्म इंडस्ट्री के लोगों का धन्यवाद दिया और इस दौरान बदला लेने वाले पोर्न वीडियो की खरी-खरी आलोचना भी की.

उन्होंने कहा, "मैं पोर्नहब के साथ काम कर रही हूं ताकि रिवेंज पोर्न रोकने के लिए उनके फ्लैंगिंग सिस्टम एल्गॉरिदम में बदलाव ला सकूं, जिससे कि हमारे समुदाय के हर एक शख्स की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके."

साभार बीबीसी

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top