Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > MP हनी ट्रैप: बॉलीवुड की कुछ हीरोइनों के नाम भी उजागर, 40 से ज़्यादा कॉल गर्ल्स, 18 साल की आरोपी खोलेगी कई राज!

MP हनी ट्रैप: बॉलीवुड की कुछ हीरोइनों के नाम भी उजागर, 40 से ज़्यादा कॉल गर्ल्स, 18 साल की आरोपी खोलेगी कई राज!

सेक्स-ब्लैकमेल और जबरन वसूली रैकेट के आरोप में गिरफ्तार पांच महिलाओं के पास से दो लैपटॉप और कई मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं, जिसने मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल ला दिया है।

 Special Coverage News |  26 Sep 2019 12:48 PM GMT  |  दिल्ली

MP हनी ट्रैप: बॉलीवुड की कुछ हीरोइनों के नाम भी उजागर, 40 से ज़्यादा कॉल गर्ल्स, 18 साल की आरोपी खोलेगी कई राज!

इंदौर : हनी ट्रैप सैक्स रैकेट के खुलासे के बाद मध्य प्रदेश में नेताओं, अधिकारियों और व्यापारियों की नींद उड़ी हुई है। देश का 'सबसे बड़ा ब्‍लैकमेलिंग सेक्‍स स्‍कैंडल' कहे जाने वाले इस सैक्स रैकेट से जुड़ी 4000 से ज्यादा फाइलें जांच एजेंसियों को मिल चुकी हैं। साथ ही ऐसे फाइलों के मिलने का सिलसिला अब भी बदस्तूर जारी है। वहीं इस मामले में नया मोड़ आ गया है। इस मामले में पांच आरोपियों से गिरफ्तार 18 साल की एक लड़की सरकारी गवाह बनने के लिए तैयार हो गई हैं।

पीड़िता का कहना है कि वो बेकसूर है और वो खुद ब्लैकमेलिंग की शिकार हुई हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि जल्द ही इस सबसे बड़े ब्‍लैकमेलिंग सेक्‍स स्‍कैंडल मामले में आने वाले दिनों में कई अहम खुलासे हो सकते हैं।

बताया जा रहा है कि इंदौर हनी ट्रैप मामले के तार राज्य के कई बड़े नौकरशाह और नेता से जुड़े हैं, उन्हें बॉलीवुड की कुछ बी-ग्रेड अभिनेत्रियों समेत 40 से अधिक कॉल गर्ल्स मुहैया कराई जाती थी। इसमें शामिल नौकरशाहों और राजनेताओं की कार्ल गर्ल्स के साथ आपत्तिजनक स्थिति में कई वीडियो क्लिप सामने आएं हैं।

सेक्स-ब्लैकमेल और जबरन वसूली रैकेट के आरोप में गिरफ्तार पांच महिलाओं के पास से दो लैपटॉप और कई मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं, जिसने मध्य प्रदेश की राजनीति में भूचाल ला दिया है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी), संजीव शमी की अगुवाई में एमपी पुलिस की विशेष जांच टीम उन स्थानों की लोकेशन के साथ वीडियो क्लिप का मिलान कर साक्ष्य जुटा रही है, जहां इसे कॉल गर्ल्स द्वारा या सेक्स और ब्लैकमेलिंग रैकेट चला रही महिलाओं द्वारा शूट किया गया था।

सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक पुलिस के हत्थे चढ़ी महिलाओं ने पूछताछ में खुलासा किया कि केवल कुछ मामलों में नेता या नौकरशाह को उनके सेक्स वीडियो को दिखाकर सरकारी ठेका देने का दवाब बनाया जाता था, जबकि अधिकांश मामलों में नेता और नौकरशाह सेक्स के बदले खुद ही बड़े सरकारी ठेके दे देते थे। बताया जा रहा है कि इस गिरोह का मास्टरमाइंड पहले नौकरशाह और मंत्री के साथ अपनी नजदीकी बढ़ातीं थी और फिर वो उन्हें सेक्स के लिए किसी गेस्ट हाउस या पांच सितारा सुइट में लड़कियां उपलब्ध कराती थी। उस दौरान नौकरशाह और नेता जब उस लड़की के साथ नजदीकी संबंध में होते थे, उनका वीडियो हिडेन कैमरा से रिकार्ड कर लिया जाता था।

जानकारी के मुताबिक फिलहाल एसआईटी वीडियो क्लिप की फोरेंसिक जांच में जुटी है हनी ट्रैप के जरिए ब्लैकमेल करने वाले व्यक्तियों की पहचान में जुटी है। इसके बाद ही एसआईटी उन हाई प्रोफाइल लोगों (नेता और नौकरशाह) के खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा, जिन्होंने सेक्स के बदले इस गिरोह को फायदा पहुंचाया। गौरतलब है कि इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन की शिकायत के बाद ही हनी ट्रैप मामले का राजफाश हुआ था। इसमें कई नेताओं और अधिकारियों कीं संलिप्तता की बात सामने आ रही है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top