Top
Begin typing your search...

इधर सुप्रीमकोर्ट कहता है कल होगा आदेश और उधर बदला होटल जानते हो क्यों?

सोमवार को एक बार फिर शिवसेना विधायकों को दूसरे होटल में शिफ्ट हो गया है, विधायकों को अब लेमन ट्री प्रीमियर होटल में ले जाया गया है. जबकि इससे पहले शिवसेना के सभी विधायक होटल ललित में रुके हुए थे.

इधर सुप्रीमकोर्ट कहता है कल होगा आदेश और उधर बदला होटल जानते हो क्यों?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

महाराष्ट्र में सियासी उठापटक के बीच शिवसेना के विधायकों का ठिकाना एक बार फिर बदल गया है. सोमवार को एक बार फिर शिवसेना विधायकों को दूसरे होटल में शिफ्ट हो गया है, विधायकों को अब लेमन ट्री प्रीमियर होटल में ले जाया गया है. जबकि इससे पहले शिवसेना के सभी विधायक होटल ललित में रुके हुए थे. होटल ललित में सिर्फ तीन दिनों की बुकिंग की गई थी.

लगातार बदला जा रहा है विधायकों का ठिकाना

बता दें कि कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की तरफ से आरोप लगाया जा रहा है कि भाजपा उनके विधायकों की जासूसी करवा रही है. इससे पहले जब सादी वर्दी में पुलिसकर्मी दिखाई दिए थे, तब भी बवाल हुआ था. यही कारण है कि पार्टियां अपने विधायकों के ठिकाने बदले जा रहे हैं.

किसके विधायक किस होटल में?

शिवसेना विधायक:

अब- होटल ट्री प्रीमियर

पहले- होटल ललित

एनसीपी विधायक:

अब- होटल हयात

पहले- होटल रेनेसां

कांग्रेस विधायक:

होटल जेवी मेरियट

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को महाराष्ट्र के मसले पर सुनवाई हुई, अब अदालत मंगलवार को इस मामले पर फैसला सुनाएगी. वहीं दूसरी ओर कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना ने राज्यपाल को विधायकों का समर्थन पत्र सौंप दिया है. सर्वोच्च अदालत में अजित पवार-देवेंद्र फडणवीस के वकीलों की ओर से फ्लोर टेस्ट को टालने की अपील की गई, जबकि विपक्षी पार्टियों ने मांग की है कि 24 घंटे में फ्लोर टेस्ट करवाया जाए.

जब होटल में घुस गई पुलिस

रविवार को मुंबई में काफी विवाद हो गया था, क्योंकि जिस होटल में एनसीपी के विधायक ठहरे हुए थे. उसी होटल में कुछ सादी वर्दी में पुलिसवालों को देखा गया, जिनकी एनसीपी के नेताओं से झड़प हो गई थी. एनसीपी का आरोप था कि उनके विधायकों की जासूसी की जा रही है. इसी के बाद सभी ने अपने विधायकों को बदलने का सिलसिला शुरू किया.

Special Coverage News
Next Story
Share it