Top
Begin typing your search...

महाराष्ट्र में सत्ता की घड़ी : शरद पवार का दिखा एनसीपी पर होल्ड, बैठक में एनसीपी के 51 विधायक पहुंचे.

दल-बदल कानून से बचने को Ajit Pawar को कितने विधायक चाहिए?

महाराष्ट्र में सत्ता की घड़ी : शरद पवार का दिखा एनसीपी पर होल्ड, बैठक में एनसीपी के 51 विधायक पहुंचे.
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शनिवार की सुबह देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री के रूप में राकांपा के अजीत पवार के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले विधायकों की सटीक संख्या पर भ्रम की स्थिति अभी भी बनी हुई है. लेकिन उसमें से कम से कम सात विधायकों ने पार्टी में वापस आने का दावा किया और शरद पवार के प्रति अपनी वफादारी का वादा किया है.

बड़ा सवाल: क्या महाराष्ट्र के राज्यपाल और उत्तराखंड के पूर्व सीएम बीएस कोश्यारी ने इस सूची की सत्यता को सत्यापित करने का कोई प्रयास किया? और आज सुबह क्या जरूरी था? क्या ये सवाल पूछे जाने चाहिए?


सवेरे सवेरे राकांपा प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजीत ने कुछ विधायकों के साथ भाजपा का दामन थामा और देवेंद्र फडणवीस को सीएम और अजीत पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई.

मुंबई में वाईबी चव्हाण केंद्र में एनसीपी प्रमुख शरद पवार के साथ बैठक में 42 एनसीपी विधायक मौजूद हैं, उसके बाद यह भी जानकारी मिली है कि डिप्टी सीएम अजीत पवार अभी अभी एनसीपी की मीटिंग में पहुचें है. फडणवीस की शपथ के बाद फिर बदल रहा घटनाक्रम, शरद पवार की बैठक में राकांपा के 54 में से 42 विधायक पहुंचे है. शरद पवार की बैठक में एनसीपी के 51 विधायक पहुंच चुके है खुद अजीत पवार भी पहुँच चुके है.





अभी अभी मिली जानकारी के मुताबिक महाराष्ट्र के राज्यपाल, भगत सिंह कोश्यारी के खिलाफ राकांपा, शिवसेना और कांग्रेस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में एक रिट याचिका प्रस्तुत की गई है. वे मांग कर रहे हैं कि सुबह राज्यपाल की कार्रवाई को अवैध घोषित किया जाए और महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए सेना-राकांपा और कांग्रेस को आमंत्रित किया जाए.

महाराष्ट्र में सरकार के गठन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर की जाने वाली रिट याचिका, रिट याचिका में दावा किया गया है कि अजीत पवार के साथ भाजपा सरकार असंवैधानिक है.






Special Coverage News
Next Story
Share it