Top
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > अजित पवार का MLA पद से इस्तीफा, शरद पवार बोले- ED के मुकदमे के बाद बेचैन थे

अजित पवार का MLA पद से इस्तीफा, शरद पवार बोले- ED के मुकदमे के बाद बेचैन थे

NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा कि अजित उनका (शरद पवार का) नाम मनी लॉन्ड्रिंग केस में आने के कारण बहुत परेशान हैं।

 Special Coverage News |  28 Sep 2019 4:17 AM GMT  |  दिल्ली

अजित पवार का MLA पद से इस्तीफा, शरद पवार बोले- ED के मुकदमे के बाद बेचैन थे
x

मुंबई : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता अजित पवार ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। महाराष्ट्र विधानसभाध्यक्ष हरिभाऊ बागड़े ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि पवार का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है। इस बीच एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि अजित पवार काफी परेशान हैं और वह राजनीति से संन्यास ले सकते हैं। बताते चलें कि करीब 25 हजार करोड़ के महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक घोटाले में ईडी ने शरद पवार और उनके भतीजे अजित पवार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

'राजनीति से संन्यास का सही वक्त'

अजित के इस्तीफे पर शरद पवार ने कहा, 'इस्तीफा देने से पहले या बाद में अजित पवार ने मुझसे बात नहीं की है। जब मैंने उनके बेटे से बात की तो उन्होंने बताया कि अजित ने परिवार के सदस्यों से कहा है कि यह राजनीति से संन्यास लेने का उनके लिए सही वक्त है।'

एनसीपी प्रमुख ने कहा, 'मैंने कारण जानने के लिए उनके पुत्र और दूसरे लोगों से संपर्क किया और पता चला कि उन्होंने अपने परिवार को आज बताया कि वह चाचा (शरद पवार) का नाम उस केस में आने से बहुत चिंतित हैं, जिसमें उनका (अजित पवार) का नाम भी है। वह इससे बहुत परेशान थे।'

विधानसभा स्पीकर हरिभाऊ बागड़े ने कहा कि उन्हें एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री अजित पवार का इस्तीफा शाम को मिला। वहीं, एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि अजित उनका (शरद पवार का) नाम मनी लॉन्ड्रिंग केस में आने के कारण बहुत परेशान हैं।



विधानसभाध्यक्ष ने कहा कि पवार ने इस्तीफा देने का कारण नहीं बताया है। बागड़े ने एक समाचार चैनल से कहा, 'उन्होंने हाथ से लिखा इस्तीफा मेरे पीएस (निजी सहायक) को दिया। उन्होंने वहां से मुझे फोन किया। मैं हैरान हुआ। मैंने दादा (अजित पवार) से पूछा कि वह ऐसा क्यों कर रहे हैं। दादा ने मुझे बताया कि वह मुझे बाद में बताएंगे। उन्होंने मुझसे इस्तीफा स्वीकार करने का आग्रह किया।'

बारामती क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे अजित पवार से सम्पर्क नहीं हो सका। एनसीपी के अन्य नेताओं ने भी कहा कि उन्हें अपने नेता के कदम को लेकर कोई जानकारी नहीं है। एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। हमें इसके (इस्तीफे) बारे में जानकारी नहीं है।' इससे पहले दिन में एनसीपी के प्रमुख नेताओं और बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता पार्टी प्रमुख शरद पवार के समर्थन में शहर में एकत्रित हुए।

पवार ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा उनके खिलाफ एक धनशोधन मामला दर्ज किए जाने के बाद यहां स्थित एजेंसी के कार्यालय जाने का निर्णय किया था। हालांकि इस दौरान अजित पवार नहीं दिखे। शरद पवार के साथ एनसीपी के जो नेता थे उन्होंने बताया कि अजित पवार वर्षा प्रभावित पुणे में हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it