Top
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > शरजील इमाम के समर्थन में लगाए थे नारे, उर्वशी चूड़ावाला समेत 50 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज

शरजील इमाम के समर्थन में लगाए थे नारे, उर्वशी चूड़ावाला समेत 50 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज

शरजील इमाम के समर्थन में नारे लगाने के आरोप में मुंबई पुलिस ने 50 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया है

 Arun Mishra |  4 Feb 2020 4:10 AM GMT

शरजील इमाम के समर्थन में लगाए थे नारे, उर्वशी चूड़ावाला समेत 50 लोगों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज
x

मुंबई : देश के टुकड़े करने के बयान देने वाले जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के छात्र शरजील इमाम (Sharjeel Imam) के समर्थन में नारे लगाने के आरोप में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने 50 लोगों के खिलाफ देशद्रोह (Sedition) का केस (Case) दर्ज किया है। इसमें सामाजिक कार्यकर्ता उर्वशी चूड़ावाला (Urvashi Churiwal) का भी नाम है। बताया जा रहा है कि 1 फरवरी को मुंबई के आजाद मैदान में एलजीबीटीक्यू के कार्यक्रम में जामिया मिल्लिया इस्लामिया में देश विरोधी बयान के आरोप में गिरफ्तार शरजील इमाम के समर्थन में राष्ट्र विरोधी नारे लगाए गए थे। मुंबई पुलिस के डीसीपी प्रणय अशोक के मुताबिक, उर्वशी चूड़ावाला समेत 50 पर केस दर्ज किया गया है।

इन सभी लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए (देशद्रोह), 153 बी (राष्ट्रीय अखंडता के प्रति पूर्वाग्रहपूर्ण बयान), 505 (लोगों को उकसाने के लिए दिया गया बयान), 34 (साझा इरादा) के तहत मामला दर्ज किया गया है। मुंबई पुलिस के डीसीपी प्रणय अशोक ने कहा कि 'हमने चूड़ावाला और अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। हम आगे की जांच के सिलसिले में उन्हें (आजाद मैदान) थाने बुलायेंगे।' आजाद मैदान थाने ने यह मामला दर्ज किया है।

बताया जा रहा है कि रैली में 'शरजील तेरे सपनों को हम मंजिल तक पहुंचाएंगे' नारा लगाने वालों में उर्वशी चूड़ावाला सबसे आगे थीं। उनका वीडियो वायरल हो रहा है। बीजेपी के पूर्व सांसद किरिट सोमैया ने 2 फरवरी को इस बारे में सबूत के साथ शिकायत दर्ज कराई थी और केस नहीं दर्ज करने पर धरने की धमकी दी थी। उर्वशी चूड़ावाला टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज में एमए (मीडिया) की छात्रा हैं। चूडावाला जेंडर भेदभाव के खिलाफ काम करने वाले संगठन TISS Queer Collective भी जुड़ी हुई हैं।

बताया जा रहा है कि क्विर आज़ादी मूवमेंट (QAM) ने इस रैली का आयोजन किया था। आयोजकों का कहना है कि जिस ग्रुप ने ऐसे नारे लगाए, वो उसे नहीं जानते हैं। आयोजकों के बयान रिकॉर्ड करने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी है। नारों वाला विवादित वीडियो सामने आने के बाद QAM आयोजन संस्था ने एक बयान कर कहा है कि 'हम अपने को इससे पूरी तरह अलग करते हैं और कड़े शब्दों में कट्टरपंथी नारे लगाने वालों की निंदा करते हैं। साथ ही आयोजन के दौरान भारत की अखंडता के खिलाफ किसी भी तरह के नारे लगाए जाने की भी हम निंदा करते हैं।'

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story
Share it