Breaking News
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > सरकार बनाते बनाते हुए शिवसेना नेता संजय राउत बीमार, अस्पताल में जाकर कांग्रेस के नेताओं ने लिए हालचाल और फिर ....

सरकार बनाते बनाते हुए शिवसेना नेता संजय राउत बीमार, अस्पताल में जाकर कांग्रेस के नेताओं ने लिए हालचाल और फिर ....

 Special Coverage News |  13 Nov 2019 7:08 AM GMT  |  मुंबई

सरकार बनाते बनाते हुए शिवसेना नेता संजय राउत बीमार, अस्पताल में जाकर कांग्रेस के नेताओं ने लिए हालचाल और फिर ....

महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं से मुंबई के लीलावती अस्पताल में शिवसेना नेता संजय राउत से मुलाकात की. आपको बता दें कि सीने में दर्द की शिकायत के बाद संजय राउत को 11 नवंबर को लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

शिवसेना नेता संजय राउत ने अस्पताल से निकलते ही कहा अस्पताल से निकलते ही संजय राउत ने कहा- अगला सीएम शिवसेना का ही होगा. शिवसेना नेता संजय राउत को मुंबई के लीलावती अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है.

शिवसेना नेता संजय राउत को बीते चार पांच दिनों से सीने में दर्द की शिकायत थी. चूँकि उस दौरान सरकार बनने बिगड़ने की भी बात चल रही थी. तब संजय राउत लीलावती अस्पताल में भर्ती हुए थे. उस समय यह जानकारी उनके भाई ने दी थी.

अब चूँकि सरकार तो बनेगी लेकिन कब बनेगी यह नहीं कहा जा सकता है. फिलहाल अस्पताल में जाकर कांग्रेस के नेताओं ने उनके हाल चाल जरुर लिए है. बीजेपी का कोई नेता उनको देखने अभी अपस्ताल नहीं गया है.

अभी अभी मिली जनकारी के मुतबिक मुंबई के वाईबी चव्हाण सेंटर में हुई कांग्रेस-एनसीपी की बैठक में एनसीपी नेता शरद पवार के अलावा दिल्ली से गए कांग्रेस के तीन वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल भी शामिल थे. मीटिंग के बाद शरद पवार और अहमद पटेल ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस की, लेकिन इससे पहले मीटिंग से ही पृथ्वीराज चव्हाण और शरद पवार ने उद्धव ठाकरे को फोन किया.

अहमद पटेल ने दिलाया उद्धव को भरोसा

जानकारी के मुताबिक, अहमद पटेल ने उद्धव ठाकरे से बातचीत में उन्हें भरोसा दिलाया और चिंता न करने की बात कही. पटेल ने उद्धव से कहा कि अभी कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर चर्चा होनी है, जिसमें वक्त लग रहा है, इसलिए डोन्ट वरी.

उद्धव ठाकरे से इस बातचीत के बाद ही शरद पवार और अहमद पटेल ने संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित किया. दोनों नेताओं ने बताया कि अभी कांग्रेस और एनसीपी के बीच कई मसलों पर चर्चा होनी है और दोनों दलों की बात जब फाइनल हो जाएगी तो फिर शिवसेना से बात की जाएगी.

ऐसे में अब देखना है कि कांग्रेस और एनसीपी किस मिनिमम प्रोग्राम को फाइनल करती है और कब तक और किस फॉर्मूले से महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार बन पाती है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top