Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी और पूर्व सीएम देवेंद्र फडंणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस में हुई ट्विटर पर लड़ाई

शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी और पूर्व सीएम देवेंद्र फडंणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस में हुई ट्विटर पर लड़ाई

 Special Coverage News |  8 Dec 2019 1:23 PM GMT  |  मुंबई

शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी और पूर्व सीएम देवेंद्र फडंणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस में हुई ट्विटर पर लड़ाई

महाराष्ट्र की सत्ता में बीजेपी-शिवसेना के बीच चल रही सियासी जंग में दो नेत्रियां कूद पड़ी हैं. आमने-सामने हैं पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस और शिवसेना की तेजतर्रार नेता प्रियंका चतुर्वेदी. अमृता फडणवीस ने कहा है कि शिवसेना तभी पेड़ कटवाती है जब उसे कमीशन मिलता है. इस पर प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि अनिवार्य रूप से झूठ बोलने की बीमारी महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं को है.

दरअसल महाराष्ट्र में सत्ता में आते ही शिवसेना ने आरे में मेट्रो शेड के निर्माण पर रोक लगा दी है. शिवसेना ने कहा है कि आरे में किसी पेड़ को नहीं कटने दिया जाएगा. चुनाव के दौरान भी शिवसेना ने पेड़ों के कटने पर नाराजगी जताई थी.

'1000 पेड़ कटवाने वाली है शिवेसना'

रविवार को एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने शिवसेना पर जोरदार हमला बोला और कहा कि शिवसेना अपने सुविधानुसार पेड़ कटवाती है, या फिर वो पेड़ तब कटवाती जब उसे कमीशन मिलता है. दरअसल इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि औरंगाबाद में बाला साहेब ठाकरे का स्मारक बनाने के लिए शिवसेना यहां पर 1000 पेड़ कटवाने वाली है. औरंगाबाद की नगरपालिका में शिवसेना सत्ता में है.

'पाखंड गंभीर बीमारी है'

शिवसेना और बीजेपी के बीच हाल ही में रिश्ते तल्ख हुए हैं. राज्य में अब समीकरण बदल गया है. बीजेपी सत्ता से बाहर है और शिवसेना के पास सीएम की कुर्सी है. पहले भी अपने ट्वीट से चर्चा में रहने वाली अमृता फडणवीस ने इस रिपोर्ट का हवाला देकर शिवसेना को पाखंडी करार दिया. उन्होंने ट्वीट किया, " पाखंड एक बीमारी है, शिवसेना जल्द ठीक होइए, आप अपनी सुविधानुसार पेड़ कटवाते हैं या फिर पेड़ कटवाने की इजाजत तभी देते हैं जब आपको कमीशन मिलता है, ये क्षमा करने योग्य पाप नहीं है."




कमीशन बीजेपी की पॉलिसी

अमृता फडणवीस के इस ट्वीट पर शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने जोरदार हमला किया. उन्होंने लिखा, "मैम आपको ये जानकार निराशा होगी, लेकिन सच्चाई ये है कि मेमोरियल के लिए एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा, मेयर ने भी इसकी पुष्टि कर दी है. हां मैं बता दूं कि अनिवार्य रूप से झूठ बोलना बड़ी बीमारी है, जल्द ठीक होइए, वृक्ष काटने के लिए कमीशन महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं द्वारा प्रैक्टिस की जाने वाली नई पॉलिसी है." एक दूसरे ट्वीट में प्रियंका ने औरंगाबाद के मेयर का एक वीडियो लगाया है. इसमें मेयर नंदकुमार कह रहे हैं कि बाला साहेब के स्मारक के लिए पेड़ नहीं कटने दिया जाएगा.

पलट के आऊंगी...मौसम जरा बदलने दे

बता दें कि अमृता अपने सोशल एक्टिविटी और ट्वीट के लिए चर्चा में रहती हैं. जब कुछ दिन पहले सीएम बनने के बाद देवेंद्र फडणवीस को इस्तीफा देना पड़ा था तो उस दौरान अमृता द्वारा किया गया ट्वीट काफी वायरल हुआ था. अमृता ने कहा था कि पलट के आऊंगी शाखों पे खुशबुएं लेकर, खिजां की जद में हूं मौसम जरा बदलने दे.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top