Top
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > महाराष्ट्र बीजेपी के वो बड़े चहरे और ताकतवर नेता, जिनका पार्टी ने इस चुनाव में पत्ता काट दिया

महाराष्ट्र बीजेपी के वो बड़े चहरे और ताकतवर नेता, जिनका पार्टी ने इस चुनाव में पत्ता काट दिया

 Special Coverage News |  4 Oct 2019 6:02 AM GMT  |  मुंबई

महाराष्ट्र बीजेपी के वो बड़े चहरे और ताकतवर नेता, जिनका पार्टी ने इस चुनाव में पत्ता काट दिया
x

मुंबई : महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 (Maharashtra Assembly Elections 2019) बीजेपी (BJP) ने फडणवीस कैबिनेट में कई दिग्गज मंत्रियों के टिकट काट दिए हैं. सूबे के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े को विधानसभा चुनाव से ऐन पहले तगड़ा राजनीतिक झटका लगा है और तावड़े का इस चुनाव को लड़ने का सपना टूट गया है. नामांकन पर्चा दाखिल करने के आखिरी दिन शुक्रवार की सुबह बीजेपी उम्मीदवारों की जारी हुई चौथी लिस्ट के आने के साथ ही शिक्षा मंत्री तावड़े का टिकट कटने की पुष्टि हो गई. विनोद तावडे मुंबई के पश्चिमी उपनगर बोरीवली विधानसभा सीट से विधायक है.

अब इस सीट पर विनोद तावड़े की जगह बीजेपी और शिवसेना गठबंधन के उम्मीदवार सुनील राणे को पार्टी ने टिकट थमा दिया है. सुनील राणे बीजेपी मुंबई का युवा चेहरा हैं. सुनील राणे पहले मुंबई की वर्ली विधानसभा सीट पर चुनाव लड चुके हैं. हालांकि अब वर्ली सीट पर शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे शिवसेना और बीजेपी गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड रहे हैं.

माना जा रहा है कि कथित फर्जी इंजीनियरिंग डिग्री और दूसरे आरोपों की वजह से विपक्षी दलों के नेताओं के आरोपों से घिरे शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े से बीजेपी ने किनारा करने मे ही पार्टी की भलाई समझी है और शिक्षा मंत्री तावड़े का टिकट काटकर चुनाव प्रचार में विपक्षी दलों की धार को कुंद कर दिया है.




विनोद तावडे किसी वक्त में सूबे के मुख्यमंत्री की कुर्सी के भी प्रबल दावेदार थे. तावड़े महाराष्ट्र की मराठा जाति के नेता हैं. सूबे की सियासत में मराठा बेहद ताकतवर हैं. अब तक प्रदेश के ज्यादातर मुख्यमंत्री मराठा जाति से ही बने हैं. साल 2014 कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन को हराकर प्रदेश में सत्ता में आई देवेंद्र फडणवीस सरकार मे पहली बार शिक्षा मंत्री कुर्सी पर आसीन हुए विनोद तावड़े इससे पहले महाराष्ट्र विधान परिषद के विपक्ष के नेता थे.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना गठबंधन दोबारा सत्ता में लौटने की तगड़ी सियासी तैयारी करके चुनावी समर में कूद पडा है और किसी भी राजनीतिक चूक से गठबंधन बच रहा है. बीजेपी और शिवसेना गठबंधन प्रदेश की 288 विधानसभा सीटों में से कम से कम 220 पर जीत का लक्ष्य बना चुका है.

भाजपा की चौथी लिस्ट जारी हुई तो सूबे के दूसरे धाकड़ बीजेपी नेताओं को भी तगड़ा राजनीतिक झटका लगा है. बीजेपी के कद्दावर नेता पूर्व राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे का भी पार्टी ने जलगांव से टिकट काट दिया है. हालांकि एकनाथ खडसे के लिए थोड़ी राहत की बात है कि पार्टी ने खडसे की जगह उनकी बेटी को टिकट थमा दिया है. एकनाथ खडसे को कथित जमीन घोटाले में उनका नाम उछलने पर खडसे को फडणवीस कैबिनेट से इस्तीफा देना पड़ा था.

बीजेपी ने मुंबई की कोलाबा सीट से विधायक कैबिनेट मंत्री दर्जा हासिल राज पुरोहित का भी पत्ता काट दिया है. राजपुरोहित की जगह राहुल नार्वेकर को टिकट मिल गया है. हाउसिंग घोटाले के आरोपों के बाद महाराष्ट्र की कैबिनेट से बाहर हुए पूर्व गृह निर्माण मंत्री प्रकाश मेहता को भी पार्टी ने इस बार घर बैठा दिया है. घाटकोपर ईस्ट विधानसभा सीट पर पूर्व मंत्री प्रकाश महेता का टिकट काटकर बीजेपी ने पराग शाह को टिकट दिया है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it