Top
Home > राज्य > महाराष्ट्र > मुम्बई > महाराष्ट्र में फंसा पेच, गडकरी से मिलने पहुंचे अहमद पटेल, शरद पवार से मिलेंगे संजय राउत

महाराष्ट्र में फंसा पेच, गडकरी से मिलने पहुंचे अहमद पटेल, शरद पवार से मिलेंगे संजय राउत

महाराष्ट्र की 288 सीटों वाले विधानसभा में बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54, कांग्रेस को 44 और अन्य को 29 सीटें मिली हैं. सरकार बनाने के लिए बहुमत का आकंड़ा 146 है. लेकिन, सीएम पद और 50-50 फॉर्मूले पर बात नहीं बन पाने के कारण अभी तक नई सरकार का गठन नहीं हो पाया है.

 अनमोल |  6 Nov 2019 5:13 AM GMT

महाराष्ट्र में फंसा पेच, गडकरी से मिलने पहुंचे अहमद पटेल, शरद पवार से मिलेंगे संजय राउत
x

मुंबई. महाराष्ट्र में चुनाव खत्म होने के बाद नई सरकार के गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) में तल्खियां जारी है. बीजेपी से जुड़े सूत्रों ने एक तरफ 7 या 8 नवंबर को मुख्यमंत्री के रूप में देवेंद्र फडणवीस (Devendra fadnavis) के शपथ ग्रहण समारोह की संभावना जताई है. वहीं, दूसरी ओर बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना 50-50 फॉर्मूले पर कायम है.

इस बीच कांग्रेस नेता अहमद पटेल केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिलने पहुंचे हैं. हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि दोनों नेताओं की मुलाकात किस वजह से हो रही है, लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए ये माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर ही ये मुलाकात हो रही है.

यहां पढ़ें, महाराष्ट्र की राजनीतिक हलचल का लाइव अपडेट्स...

>> सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे आज दोपहर मुंबई पहुंच सकते हैं. वहीं, दोपहर 2:30 के करीब एनसीपी प्रमुख शरद पवार प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं.

>>माना जा रहा है कि अगर 9 नवंबर तक महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर कोई हल नहीं निकलता है, तो वहां पर राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है. बता दें कि महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन की आखिरी तारीफ 9 नवंबर है.

>>शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) का कहना है कि चुनाव से पहले जो प्रस्ताव दिया गया था, हम उसी प्रस्ताव पर राज़ी होंगे. पार्टी को कोई नया प्रस्ताव मंजूर नहीं है. महाराष्ट्र में सरकार बनाने की कोशिशों के बीच संजय राउत एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मिलने के लिए रवाना हुए है.

>>संजय राउत ने कहा, 'महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी-शिवसेना के बीच 50-50 फॉर्मूले पर सहमति बनी थी. इस प्रस्ताव के बाद ही दोनों पार्टियां का गठबंधन हुआ था. अब चुनाव बाद बीजेपी अपने वादों से पीछे हट रही है.

क्या है 50-50 फॉर्मूला?

दरअसल, महाराष्ट्र चुनाव से पहले बीजेपी और शिवसेना के बीच एक राजनीतिक 'डील' हुई थी. इसके तहत पांच साल की सरकार में ढाई साल का सीएम पद बीजेपी के पास और बाकी ढाई साल का सीएम पद शिवसेना के पास रहेगा. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने विधानसभा चुनाव नतीजे आने के बाद ही बीजेपी को 50-50 फॉर्मूले की याद दिलाई थी. ठाकरे ने साफ शब्दों में कहा था- 'लोकसभा चुनाव में अमित शाह और देवेंद्र फडणवीस के साथ जो तय हुआ था, उससे न कम और न ज्यादा चाहिए. उससे एक कण भी अधिक मुझे नहीं चाहिए.'

विधानसभा में किसको कितनी सीटें?

महाराष्ट्र की 288 सीटों वाले विधानसभा में बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54, कांग्रेस को 44 और अन्य को 29 सीटें मिली हैं. सरकार बनाने के लिए बहुमत का आकंड़ा 146 है. इस तरह से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के पास बहुमत के आंकड़े हैं, लेकिन सीएम पद और 50-50 फॉर्मूले पर बात नहीं बन पाने के कारण अभी तक नई सरकार का गठन नहीं हो पाया है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it