Top
Home > Archived > बिहार चुनाव : इस बार एक ओर महास्वर्थबंधन है और दूसरी ओर एनडीए है : पीएम मोदी

बिहार चुनाव : इस बार एक ओर महास्वर्थबंधन है और दूसरी ओर एनडीए है : पीएम मोदी

 Special News Coverage |  9 Oct 2015 8:53 AM GMT

PM modi Bihar Rally



सासाराम : विधानसभा चुनाव को लेकर एनडीए के पक्ष में चुनावी रैली को संबोधित करने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सासाराम में 'महागठबंधन पर जमकर निशाना साधा। राहुल के बारे में मोदी ने कहा- ‘एक नेता कांग्रेस को 40 पर ले आए हैं।’ वहीं, लालू के लिए मोदी ने कहा- लालू ने ऐसा कौन-सा पाप किया है कि चुनाव तक नहीं लड़ सकते?

मोदी ने संबोधन के आरंभ में भोजपुरी में जनता का अभिवादन किया। जैसे ही उन्‍होंने कहा, 'राउवा सबके परमान परनाम कर तानी', मैदान मोदी-मोदी के नारों से से गूंज उठा। इसके बाद उन्‍होंने कहा कि, ये चुनाव पुरानी सरकारें, जिन्होंने बिहार को बर्बाद कर दिया, उनको सजा देने का चुनाव है। यहां के मतदाता उन लोगों को सजा देने का संकल्प कर लिया है, जिन्होंने बिहार को तबाह कर दिया। इसलिए 16 को आप ही हिंदुस्तान की सुप्रिम कोर्ट हो, आप ही बिहार के न्यायाधीश हो। 16 को बटन दबाकर गुनहगारों को सजा देना आपके हाथ है।


मोदी आगे बोले कि इस चुनाव में एक ओर महास्वर्थबंधन है और दूसरी ओर एनडीए है। महास्वार्थबंधन को जानते हैं क्या, इसमें कांग्रेस, लालू और नीतीश कुमार हैं। किसी जमाने में 440 सीट वाली कांग्रेस अब 40 सीट पर आ गई, दूसरे लालू जी से पूछें, इस बार वे चुनाव से बाहर क्यों हैं? उन्होंने ऐसा क्या किया कि हिंदुस्तान की कोर्ट ने उनको बिहार की राजनीति से बाहर कर दिया? (भीड़ से पूछा तो जवाब आया चारा घोटाला)।

एक-दूसरे को गाली देने वाले आज हैं साथ-साथ

उन्‍होंने आगे कहा कि, जिस राज्य का चुनाव होता है, उस राज्य की सरकार को अपने कार्य का हिसाब देना होता है। पाई-पाई का हिसाब देना चाहिए। बिहार में ये गठबंधन के जो लोग आए हैं, इन्होंने 60 साल तक राज किया है। 35 साल तक कांग्रेस ने राज किया और 25 साल बड़े भाई और छोटे भाई ने राज किया। ये तीनों वो हैं, जो कभी एक-दूसरे के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहे हैं। हर चुनाव में एक-दूसरे को गाली देते रहे हैं। कभी बिहार के मुद्दे को लेकर एक नहीं हुए। कभी मनमोहन की सरकार में या हमारी सरकार में एक साथ नहीं आए। अब कुर्सी के लिए एक साथ हो गए हैं। इस चुनाव में वे 60 साल के अपने कार्य का हिसाब दें। बिहार के लिए इतने दिनों में क्या किया उसका हिसाब दें।

धान का कटोरा कहा जाने वाला ये है इलाका
मोदी ने कहा- पहले जब जंगल राज का सवाल आता था तो वे शरमाते थे। अब खुद जंगल राज पर भाषण देते हैं। उन्होंने ठान लिया है कि बिहार में फिर से जंगल राज लाना है। क्या बिहार में फिर से जंगल राज आने देना है? हमें जंगल राज चाहिए? आने वाले समय में दुर्गा पूजा होगी। जंगल राज के जमाने में कोई बहन-बेटी शाम के समय रामलीला देखने नहीं जाती थी। पूजा करने नहीं जाती थी। कोई डर के मारे नई गाड़ी नहीं खरीदता था कि कोई नेता उठवा लेगा। लेकिन अब बिहार को विकास का राज चाहिए।



style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




आप जंगल राज से मुक्ति पाने के लिए विकास राज का रास्ता अपनाएं। बिहार के समस्याओं का समाधान एक ही जड़ी-बूटी में है, वह है विकास। ये धान का कटोरा कहा जाने वाला इलाका है। आज यहां का किसान परेशान हैं। यहां की सरकार को इनकी सुध लेने की फुर्सत नहीं है। बिहार का हाल तो ये है कि खूब पानी है, लेकिन मछली लाने के लिए दूसरे राज्यों की ओर देखना पड़ता है। 400 करोड़ की मछली दूसरे राज्यों से खरीदना पड़ता है। अगर इस ओर ध्यान दिया जाता तो बिहार में 400 करोड़ रुपये रहते या नहीं?

बिहार में बस एक ही उद्योग है, फिरौती उद्योग। ये जंगलराज सरकार बनने से पहले कैसा है उसे देखिए। बिहार की राजधानी में एक पुलिस अफसर को गोली मार दी गई। जिस राज्य में पुलिस अफसर सुरक्षित नहीं वहां की जनता कैसे सुरक्षित होगी। ये जंगलराज नहीं तो क्या है?

बिहार आखिर किस चीज में है आगे
हमने सपना देखा है 24 घंटे बिजली पहुंचाने का। बिहार में बिजली होती तो कारखाने लगते, बच्चों की अच्छी पढ़ाई होती। बिजली देने का वादा करके उन्होंने बिजली नहीं दी। उनका अहंकार इतना है कि वह जवाब देने के लिए तैयार नहीं हैं। हमने एक लाख 65 हजार करोड़ रुपए का पैकेज दिया। यह विकास का पैकेज बिहार के नौजवानों का भाग्य बदलने वाला है। बिहार के पढ़े-लिखे नौजवान सभी राज्य में अच्छे पदों पर हैं। बिहार का जवान जहां गया उसे नई ऊंचाई पर ले गया।


बिहार को ऐसी सरकारें मिलीं जिसमें बिहार के नौजवानों का कोई उपयोग नहीं हुआ। पूरे देश में प्रति व्यक्ति आय के मामले में बिहार 29 नंंबर पर है। कोई ऐसा मामला नहीं है जिसमें बिहार हिन्दुस्तान के सामने सीना ठोककर खड़ा हो जाए। अगर किसी मामले में आगे है तो अपहरण और गोलियां चलाने में।


href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप
के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">



स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it