Home > रेल नीर रैकेटः दो अधिकारी निलंबित, सीबीआई ने रात में छापा मारकर 20 करोड़ रु. नगद किए थे बरामद

रेल नीर रैकेटः दो अधिकारी निलंबित, सीबीआई ने रात में छापा मारकर 20 करोड़ रु. नगद किए थे बरामद

 Special News Coverage |  2015-10-17 05:26:15.0

rail neer


नई दिल्ली : रेल नीर घोटाला मामले में रेलवे के दो अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है। रेल मंत्रालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। हालांकि यह तय माना जा रहा था कि इन अधिकारियों को निलंबित कर दिया जाएगा।

बतातें चले कि CBI ने शुक्रवार को उत्तर रेलवे के 2 पूर्व अधिकारियों और 7 निजी कंपनियों के खिलाफ 13 जगहों पर छापेमारी की जिसमें 20 करोड़ रूपए बरामद किए गए। प्रीमियम ट्रेनों में रेल नीर की आपूर्ति में हुए कथित भ्रष्टाचार के संबंध में यह छापेमारी हुई।


CBI सूत्रों ने बताया कि उत्तर रेलवे के तत्कालीन मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधकों एम एस चालिया और संदीप सिलस के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।


CBI ने निजी कंपनियों आर के एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड, सत्यम कैटरर्स प्राइवेट लिमिटेड, अंबुज होटल एंड रियल एस्टेट, पीके एसोसिएट्स प्राइवेट लिमिटेड, सनशाइन प्राइवेट लिमिटेड, वृंदावन फूड प्रॉडक्ट और फूड वल्र्ड के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक कानून के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है।

सिलस एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के निजी सचिव के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं।

सूत्रों ने दावा किया कि आर के असोसिएट्स और वृंदावन फूड प्रॉडक्ट के मालिक श्याम बिहारी अग्रवाल, उनके बेटे अभिषेक अग्रवाल और राहुल अग्रवाल के आवास से 20 करोड़ रूपए नगद बरामद किए गए हैं।

आरोप है कि आरोपियों ने राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस सहित प्रीमियम ट्रेनों में जरूरी रेल नीर के इतर सस्ते पैक पेयजल की आपूर्ति को लेकर इन निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाया।



href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


Share it
Top