Top
Breaking News
Home > Archived > DU के प्रोफ़ेसर गिलानी गिरफ्तार, देशद्रोह के मामले में कड़ी पूंछताछ

DU के प्रोफ़ेसर गिलानी गिरफ्तार, देशद्रोह के मामले में कड़ी पूंछताछ

 Special News Coverage |  16 Feb 2016 3:40 AM GMT

geelani_
नई दिल्ली
देशद्रोह मामले में दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर एसएआर गिलानी को सोमवार देर शाम पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। मंगलवार को गिलानी को कोर्ट में पेश किया जाएगा। गिलानी पर प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्र विरोधी नारेबाजी करने का मामला दर्ज है।



नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त जतिन नरवाल ने कहा, ‘ गिलानी को देर रात करीब तीन बजे भारतीय दंड संहिता की धाराओं 124 ए ( देशद्रोह), 120 बी (आपराधिक षडयंत्र) और 149 (गैरकानूनी रूप से एकत्र होना) के तहत संसद मार्ग पुलिस थाने में गिरफ्तार किया गया।’ उन्होंने बताया कि गिलानी को कल रात पुलिस थाने बुलाया गया था जहां उन्हें हिरासत में लिया गया और उनके कई घंटों तक पूछताछ की गई। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें गिरफ्तार किए जाने के बाद चिकित्सीय जांच के लिए आरएमएल अस्पताल ले जाया गया।



गिलानी का मेडिकल

गिलानी को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस उन्हें दिल्ली के आरएमएल अस्पताल ले गई, जहां उनका मेडिकल कराया गया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि गिलानी को हिरासत में ले लिया गया है और उनसे संसद मार्ग थाने में पूछताछ की जा रही है। बता दें कि जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारेबाजी को लेकर पहले से ही सियासी बवाल मचा हुआ है। दिल्ली पुलिस ने जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार को गिरफ्तार किया है,‍ जिसे पटियाला हाउस कोर्ट ने सोमवार को दो दिनों की रिमांड पर भेज दिया।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि प्रेस क्लब में हॉल बुक करने का आग्रह गिलानी के ई-मेल के माध्यम से हुआ और समारोह की प्रकृति आम बैठक की थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। एफआईआर दर्ज होने के बाद प्रेस क्लब के सदस्य और डीयू के प्रोफेसर अली जावेद से पुलिस ने लगातार दो दिनों तक पूछताछ की जिन्होंने कार्यक्रम के लिए हॉल बुक किया था।

संसद हमले से लिंक
गिलानी को 2001 में संसद हमला मामले में गिरफ्तार किया गया था लेकिन दिल्ली उच्च न्यायालय ने 'सबूतों की कमी' के चलते अक्टूबर 2003 में उन्हें बरी कर दिया और उच्चतम न्यायालय ने अगस्त 2005 में इस फैसले को बरकरार रखा था।



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it