Home > Archived > डोल्कुन वीजा रद्द होने की वजह चीन का दबाव नहीं, वजह है ये?

डोल्कुन वीजा रद्द होने की वजह चीन का दबाव नहीं, वजह है ये?

 Special News Coverage |  25 April 2016 9:05 AM GMT

डोल्कुन वीजा रद्द होने की वजह चीन का दबाव नहीं, वजह है ये?

नई दिल्ली: भारत ने डोल्कन ईसा को वीजा देने से इनकार कर दिया, भारत ने वीजा रद्द करने के पीछे गलत कैटेगरी में वीजा अप्लाई किए जाने को वजह बताया है। चीन लगातार डोल्कन ईसा को वीजा देने का विरोध कर रहा था।

विदेश मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, वर्ल्ड उइगर कांग्रेस (WUC) के लीडर डोल्कन ईसा ने टूरिस्ट वीजा के लिए अप्लाई किया था। अगर वह टूरिस्ट वीजा पर भारत आते हैं तो कॉन्फ्रेंस को संबोधित नहीं कर सकते। वीजा रद्द करने का यही कारण डोल्कन को भी बताया गया है। चीन की ओर से लगातार दबाव और इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस भी वीजा रद्द होने के पीछे एक कारण माना जा रहा है।


ईसा को एक सम्मेलन में शामिल होने के लिए धर्मशाला आना था। ईसा अभी जर्मनी में रहते हैं। चीन ने भारत की तरफ से ईसा को वीजा दिये जाने का विरोध करते हुए कहा था कि वह एक आतंकी है उसके खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर रखा है। सभी देशों का फर्ज बनता है कि ऐसे आतंकी को कानून के हवाले किया जाए।

ईसा को भारत ने टूरिस्ट वीजा दिया गया था। ईसा वर्ल्ड उइगर कांग्रेस (WUC) के नेता हैं। वर्ल्ड उइगर कांग्रेस चीन से बाहर रहने वाले उइगर मुसलमानों का ग्रुप है। जर्मनी में रह रहे डोल्कन ईसा ने भारत में होने वाले एक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए वीजा दिया गया था। ईसा भारत आने के लिए तैयार हो गया था उसने भारत सरकार से अपनी सुरक्षा को लेकर गारंटी मांगी थी।

भारत ने ईसा को वीजा देने का दांव पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड मौलाना मसूद अजहर को यूएन में आतंकी करार देने की कोशिशों में चीन के अड़ंगे के बाद खेला था। भारत ने यूएन में आतंकी मसूद अजहर पर बैन की मांग की थी लेकिन चीन ने अपनी ताकत का इस्तेमाल करते हुए भारत की इस मांग को मानने से इनकार कर दिया था। चीन के इस कदम पर भारत ने कड़ी आपत्ति जतायी थी। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी इस मामले में चीन के सामने अपना विरोध दर्ज कराया था।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top