Home > Archived > कांग्रेस चाहती है जैसे हम बर्बाद हो गए हम देश को भी बर्बाद करेंगे, संसद नहीं चलने देंगे - पीएम

कांग्रेस चाहती है जैसे हम बर्बाद हो गए हम देश को भी बर्बाद करेंगे, संसद नहीं चलने देंगे - पीएम

 Special News Coverage |  15 Dec 2015 3:00 PM GMT

PM Modi

कोल्लमः संसद की कार्यवाही को सुचारू रूप से नहीं चलने देने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि इस पार्टी का एकमात्र कार्यक्रम देश को 'बर्बाद' करना है। उन्होंने कहा की कोंग्रेस लोकसभा चुनाव में हार को पचा नहीं पा रही।



जीएसटी को लेकर मतभेदों को दूर करने के लिए विपक्ष की ओर हाथ बढ़ाने के एक पखवाड़े के बाद मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की संसद की कार्यवाही के लिए 'चर्चा (डिबेट), असहमति (डिसेंट) और निर्णय (डिसीजन)' वाली सलाह को खारिज करके अब कांग्रेस ने 'अवरोध पैदा करना (डिसरप्ट), बर्बाद करना (डिसरक्ट) और ध्वस्त करना (डेमोलिस)' को अपना नारा बना लिया है।


उन्होंने कांग्रेस का नाम लिए बगैर कहा कि जो पराजित हो गए हैं और जिनको घर भेज दिया गया है वे अब कह रहे हैं कि हम बर्बाद हो गए हम आपको भी बर्बाद करेंगे चाहे देश को कुछ भी हो। हम संसद को चलने नहीं देंगे।

कोल्लम में 'श्री नारायण धर्म परिपालन योगम' की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि उन्होंने संसद की कार्यवाही का मजाक बना दिया है।



एसएनडीपी पिछड़े एझवा समुदाय की संस्था है। भाजपा अगले साल के विधानसभा चुनाव में इस समुदाय के वोट मिलने की उम्मीद कर रही है। यह कार्यक्रम विवादों में घिरा है क्योंकि केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी को आमंत्रित करने के बाद इसमें आने से मना कर दिया गया। इस मौके पर मोदी ने पूर्व मुख्यमंत्री आर शंकर की प्रतिमा का अनावरण किया। कांग्रेस के मुख्यमंत्री रहे शंकर एझवा समुदाय के थे।

असहिष्णुता पर राष्ट्रपति की टिप्पणी का कांग्रेस की ओर से हवाला दिए जाने का परोक्ष रूप से उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस को उन्हें उद्धृत करने की आदत पड़ चुकी है। और 15 दिनों तक यही राग अलापती रहती है। लेकिन राष्ट्रपति ने जो बात कोलकाता में कही उसपर यह पार्टी ध्यान देने को तैयार नहीं है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top