Top
Breaking News
Home > Archived > नीतीश की अपील - भाजपा को हराना है तो सभी दल एकजुट हों

नीतीश की अपील - भाजपा को हराना है तो सभी दल एकजुट हों

 Special News Coverage |  17 April 2016 7:35 AM GMT

नीतीश की अपील - भाजपा को हराना है तो सभी दल एकजुट हों

नई दिल्ली: जेडीयू के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ‘संघ मुक्त’ भारत की बात करते हुए कहा कि अगर भाजपा को हराना है तो सभी दल एकजुट हों। पटना में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि अलग-अलग लड़ाई से कुछ फायदा नहीं होने वाला है। ‘संघ मुक्त’ भारत बनाने के लिए सभी गैर भाजपा दलों को बीजेपी के खिलाफ एकजुट होना होगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि समाजवादी नेता राम मनोहर लोहिया के गैर कांग्रेसवाद और गैर संघवाद के तरीकों को अपना कर सभी दलों को आपस में एकजुट होना चाहिए। उन्होंने गैर-भाजपा दलों को एकजुट होने की अपील की, और कहा कि यह बयान अगले लोकसभा चुनाव के संदर्भ में दिया गया है। आपको बता दें शनिवार को अपने इस दिए गए बयान से दो दिन पहले नीतीश कुमार ने कहा था अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा सत्ता में नहीं आने वाली है। आपको मालुम होगा नीतीश ने 2014 के लोकसभा चुनाव के पूर्व भाजपा के वर्तमान नेतृत्व पर प्रहार करते हुए इस दल से जून वर्ष 2013 में ही संबंध विच्छेद कर लिया था। इन दिनों वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए बिहार के तर्ज पर ही राष्ट्रीय स्तर पर गैर भाजपायी दलों को एकजुट करने के प्रयास में लगे हुए हैं।


नीतीश ने कहा कि भाजपा और उसकी बांटने वाली विचारधारा के खिलाफ एकजुटता ही लोकतंत्र को बचाने का एक मात्र रास्ता है। उन्होंने कहा कि भाजपा के तीन कद्दावर नेताओं अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को पार्टी के भीतर दरकिनार कर दिया गया है और अब यह दल और सत्ता ऐसे व्यक्ति के हाथ में चली गयी है जिनका धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिक सौहार्द में कोई विश्वास नहीं है। उन्होंने कहा वह न तो किसी व्यक्ति विशेष और न ही किसी दल के खिलाफ हैं, पर संघ की बांटने वाली विचारधारा के खिलाफ हैं।

नीतीश कुमार ने कश्मीर को लेकर कहा कि जबसे दोबारा सरकार बनाई है ये सब और ज्यादा बढ़ गया है। वहां नई सरकार के गठन के बाद स्थिति चिंताजनक हो गई है। उन्होंने कहा कि वहां के मौजूदा हालात को देख लीजिए। काला धन के मामले में भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्र सरकार पर हमला बोला। और उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में सरकार बनने के बाद देख लीजिए कि केंद्र सरकार ने अपने किन किन वादों को पूरा किया है।

नीतीश कुमार ने भाजपा के सहयोगियों को भी साधने की कोशिश की और कहा कि भाजपा के साथ जो दल हैं उनकी क्या स्थिति है गठबंधन में वो खुद से पूछ लें। आप जानते है अकाली दल और शिवसेना की क्या स्थिति है आज गठबंधन में। भाजपा के अंदर की क्या स्थिति है ये भी सभी जानते हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it