Home > Archived > अब घुस के दिखाओ पाकिस्तानियों, 'लेजर पावर' से हो रही बॉर्डर पर निगरानी

अब घुस के दिखाओ पाकिस्तानियों, 'लेजर पावर' से हो रही बॉर्डर पर निगरानी

 Special News Coverage |  28 April 2016 11:43 AM GMT

अब घुस के दिखाओ पाकिस्तानियों, 'लेजर पावर' से हो रही बॉर्डर पर निगरानी

नई दिल्ली: पंजाब में भारत-पाकिस्तान के बीच की अंतरराष्ट्रीय सीमा के संवेदनशील क्षेत्रों में आतंकियों का घुसपैठ रोकने के लिए अब एक दर्जन 'लेजर दीवारें' बनाई गई है। पठानकोट में हुए आतंकी हमले के बाद बीएसएफ से इन ‘लेजर वॉल्स’ को जल्द से जल्द से इंस्टॉल करने को कहा गया था। अब जम्मू, गुजरात के अलावा वेस्ट बंगाल में बांग्लादेश बॉर्डर पर भी इसी तरह की निगरानी का प्लान है।

बॉर्डर पर होने वाली किसी भी गलत हरकत पर नजर रखने के लिए फिलहाल 8 इन्फ्रा रेड और लेजर बीम लगाई गई हैं। बीएसएफ के एक सीनियर अफसर के मुताबिक, अगले कुछ दिनों में ऐसी 4 और लेजर बीम इंटरनेशनल बॉर्डर पर लगाई जाएंगी। बीएसएफ ने ही इन्हें ‘लेजर दीवार’ नाम दिया है। उनसे मिले नतीजों को लेकर बीएसएफ खुश है।


अधिकारियों के मुताबिक जैसे ही इन दीवारों के आसपास किसी तरह की गतिविधि दिखेगी तो सिस्टम इसे पकड़ लेगा। अगर कोई इसे पार करने की कोशिश करेगा तो जोर से साइरन बजने लगेगा। सेंसर पर उपग्रह आधारित सिग्नल कमांड सिस्टम के जरिये निगरानी रखी जाएगी। इस सिस्टम की खासियत यह है कि रात के अंधेरे के अलावा कोहरे के दौरान भी यह निगरानी कर सकेगा।

लेजर वॉल्स को इन्स्टॉल करने का फैसला दो साल पहले बीएसएफ ने लिया था। पंजाब में यह कदम इसलिए उठाना पड़ा क्योंकि पंजाब से आतंकी घुसपैठ की घटनाएं बढ़ती जा रही थीं। पंजाब के बामियाल सेक्टर में तो खतरा ज्यादा है। इस इलाके में नहरें और नदियां हैं। इसके अलावा घने पेड़ और ऊंची घास है। इसी वजह से आतंकियों को घुसपैठ करने में आसानी होती है।

लेजर बीम्स की रेंज काफी लंबी होती है। इसके अलावा ये काफी दूर तक रोशनी कर सकती हैं। इसके बाद होम मिनिस्ट्री और बीएसएफ ने लेजर वॉल्स बनाने की स्ट्रैट्जी पर तेजी से काम किया। 45 लेजर वॉल्स पंजाब और जम्मू-कश्मीर से लगने वाली पाकिस्तान बाॅर्डर पर इंस्टाॅल की जानी हैं।

सरकार की कोशिश इंटरनेशनल बॉर्डर पर होने वाली घुसपैठ को किसी भी कीमत पर रोकना है। इसके लिए टेक्नोलॉजी पर फोकस किया जा रहा है। जम्मू में स्मार्ट सेंसर भी इन्स्टॉल किए जा रहे हैं। एक बीएसएफ अफसर का कहना है कि लेजर वॉल्स पर नजर रखने के लिए सिग्नल कमांड बनाए गए हैं। कोहरे या रात में भी ये सिग्नल कमांड आसानी से काम कर सकेंगे।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top