Top
Home > Archived > लोकनायक जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से हुई नई राजनीति की शुरूआत: पीएम मोदी

लोकनायक जयप्रकाश नारायण के आंदोलन से हुई नई राजनीति की शुरूआत: पीएम मोदी

 Special News Coverage |  11 Oct 2015 8:04 AM GMT

PM Modi



नई दिल्ली : दिल्ली के विज्ञान भवन में लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर लोकतंत्र प्रहरी अभिनंदन कार्यक्रम आयोजन किया गया है, जिसमें पीएम मोदी, आडवाणी, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल समेत कई गणमान्य लोग शामिल हुए हैं। इस कार्यक्रम में आपातकाल के समय जेल गए लोगों को सम्मानित किया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने रविवार को 113वीं जयंती पर लोकनायक जयप्रकाश नारायण को नमन किया और उनकी तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित किए।


कार्यक्रम में शामिल होने से पूर्व पीएम मोदी ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी और केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस से मुलाकात की। आपक बता दें कि दोनों ही नेताओं का स्वास्थ्य ठीक नहीं है।






इससे पूर्व पीएम मोदी ने रविवार सुबह ट्वीटर पर सम्मानित जेपी को याद किया और उनको सलाम किया।

वहीं, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी जेपी को याद किया और कहा कि लोकतंत्र के संरक्षक एवं संपूर्ण क्रांति आंदोलन के जनक लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी की जयंती पर शत् शत् नमन।

आपातकाल के दौरान गिरफ्तार नेताओं का किया गया सम्मानित
इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने आपातकाल के दौरान गिरफ्तार किए गए नेताओं का सम्मान भी किया। इनमें सुब्रह्मण्यम स्वामी सहित 16 नेताओं को सम्मानित किया गया जिसमें 4 राज्यपाल ओम प्रकाश कोहली(गुजरात), बलरामदास टंडन (छत्तीसगढ़), वजुभाई वाला (कर्नाटक) और कल्याण सिंह (राजस्थान) के अलावा एमपी के पूर्व राज्यपाल भाई महावीर,एनसीपी नेता डीपी त्रिपाठी, बीजेपी नेता करिया मुंडा, विजय मलहोत्रा, पूर्व केंद्रीय मंत्री जयवंतीबेन मेहता, पत्रकार वीरेंद्र कपूर, राम बहादुर राय, पत्रकार कोटमराजू विक्रम राव, गांधीवादी प्रोफेसर रामजी सिंह, ईश्वर दास महाजन और कामेश्वर पासवान शामिल थे।



style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




आपातकाल ने लोकतंत्र के खंभो को हिला दिया था
कार्यक्रम में पीएम मोदी ने जेपी को श्रद्धांजलि देते हुए आपातकाल के दिनों और जेपी के आंदोलन को याद किया। पीएम ने कहा, आपातकाल में देश का बहुत नुकसान हुआ लेकिन उस दौर में जेपी ने आपातकाल के खिलाफ जंग की, जिसने नई राजनीति का जन्म दिया। पीएम ने कहा, मैं जयप्रकाश जी की उंगली पकड़कर चला हूं।

पीएम ने कहा कि जेपी में वो प्रेरणा थी कि वे लोगों को जोड़ सकते थे। उन्होंने आपातकाल के दौरान यह कर दिखाया था। संपूर्ण क्रांति का नारा देकर जेपी ने देश को ताकतवर लोगों के खिलाफ खड़ा कर दिया। पीएम ने कहा कि आपातकाल को भूलना नहीं चाहिए, क्योंकि आपातकाल ने देश के लोकतंत्र पर सबसे बड़ा हमला बोला था लोगों को जेल में डाला गया, मीडिया को बैन कर दिया लोकतंत्र के खंभो को हिला दिया गया, लेकिन आपातकाल को याद कर रोना ठीक नहीं। पीएम ने कहा कि जेपी के आंदोलन ने लोगों को प्रेरणा दी उनके आंदोलन से नई राजनीति की शुरूआत हुई। उनके नेतृत्व में राजनीति की एक नई पीढ़ी तैयार हुई।

उन्होंने कहा कि आपातकाल की आग में तपकर भारत का लोकतंत्र और निखरा। पीएम मोदी ने कहा कि ये जेपी के आंदोलन के प्रेरणा ही थी कि चुनावों में जनता ने अपनी ताकत दिखाई और अच्छे-अच्छे ताकतवरों को लोकतांत्रिक तरीके से घर भेज दिया। आपातकाल में मैंने आडवाणी जी को भी नजदीक से देखा है। पीएम मोदी ने पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को 2 दशक से भी ज्यादा वक्त जेल में बिताने पर उन्हें भारत का नेल्‍सन मंडेला बताया।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it