Home > Archived > #RailBudget2016 : पढ़ें - सुरेश प्रभु के रेल बजट की खास बातें, यात्रियों को क्या मिला

#RailBudget2016 : पढ़ें - सुरेश प्रभु के 'रेल बजट' की खास बातें, यात्रियों को क्या मिला

 Special News Coverage |  25 Feb 2016 7:29 AM GMT

#RailBudget2016


नई दिल्ली : रेल मंत्री सुरेश प्रभु रेल बजट 2016 पेश कर रहे हैं। गुरुवार 11.30 बजे वे संसद पहुंचे। उन्होंने बजट पेश करते हुए संसद में कहा कि कहा- हम न रुकेंगे, हम न झुकेंगे, चलो मिलकर कुछ नया बनाएं।

प्रभु ने बजट पेश करने से पहले कहा, 'यात्री रेलवे की आत्मा हैं. हमारी प्राथमिकता में यात्र‍ियों की सुरक्षा और सेफ्टी सबसे ऊपर है। हम सभी स्टेशनों पर वाई-फाई उपलब्ध कराएंगे।' रेल मंत्री के मुताबिक, मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया रेलवे के लिए प्राथमिकता रहेगी। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा, 'हमने आम आदमी की जरूरतों को ध्यान में रखकर रेल बजट बनाया है।


सोशल मीडिया पर भी रेल बजट की सुबह से ही चर्चा है, #RailBudget2016 हैशटैग ट्व‍िटर पर लगातार ट्रेंड कर रहा है।

प्रभु ने कहा कि यात्र‍ियों की सुरक्षा रेलवे की प्राथमिकता है और इसी को देखते हुए सभी बड़े स्टेशनों को चरणबद्ध तरीके से सीसीटीवी सर्विलांस में लाया जाएगा। उन्होंने बताया कि 311 स्टेशनों पर सीसीटीवी का इंतजार किया जा चुका है।

रेल मंत्री ने ऐलान किया कि 2020 तक हर यात्री को कन्फर्म टिकट मिलेगा। उन्होंने कहा, 'हमें पीएम मोदी के विजन को साकार करना है। रेल मंत्री ने संसद में कहा, 'हमें पीएम मोदी के विजन को साकार करना है। पीएम चाहते हैं कि तेजी और कुशलता के साथ काम हो। हमने 2020 तक बड़ी लाइनों को काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा है।'


रेल मंत्री ने कहा कि पैसेंजर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाकर औसतन 80 किलोमीटर प्रति घंटा रखने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय स्तर पर रेलवे सुविधाएं बढ़ाएगी। प‍िछड़े हुए क्षेत्रों में भी रेल रूट बनाने की योजना पर काम हो रहा है।

रेल बजट के अपडेट्स...

- पैसेंजर्स की डिमांड पर तुरंत साफ होंगी बोगियां। स्वच्छ रेल की ओर काम कर रहा है रेलवे। ट्रेनों में सफाई के लिए क्लीन माई कोच फैसेलिटी शुरू की जाएगी।
- इस साल 20 फीसदी कम एक्सीडेंट हुए। लेकिन हम इस हालत को और सुधारने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए जापान और साउथ कोरिया से मदद ली जा रही है।
- 44 प्रोजेक्ट पर काम होगा। 5300 किलोमीटर नई लाइन तैयार की जाएगी।
- हमसफर एसी कोच होगा। तेजस और उदय में भी स्पेशल फेसेलिटी होंगी। डबल डेकर नाइट ट्रेन चलाई जाएंगी।
- 6 राज्यों के साथ एमओयू साइन किए गए हैं। रेलवे इनके साथ ज्वाइंट वेंचर लगाएगी।
- बड़ोदरा में रेलवे विश्वविद्यालय बनाएंगे।
- इस साल अंत्योदय एक्सप्रेस चलाई जाएगी। नए जनरल कोच लगाए जाएंगे।
- 400 स्टेशनों को निजी भागीदारी से डेवलप किया जाएगा।
- यात्रियों की शिकायत के लिए नई फोन लाइन (182) शुरू होगी। 311 स्टेशनों पर सीसीटीवी सिक्युरिटी।
- 17 हजार बायो टॉयलेट इस साल के अंत में लगेंगे। पहला बायो वैक्यूम टॉयलेट डिब्रूगढ़ राजधानी में लगेगा।
- पैसेंजर ट्रेन की रफ्तार बढ़ाई जाएगी। महिलाओं की सुरक्षा पर खास ध्यान दिया जाएगा। हमने 65 हजार बर्थ नई तैयार की हैं। इनका नॉन एसी कम्पार्टमेंट में यूज किया जाएगा।
- नई लोकोमोटिव फैक्ट्री लगाने के लिए 40 हजार करोड़ रुपए का बजट है। ट्रेनों के टाइम पर न चलने की शिकायत कई सालों से है।
- इसके लिए कई बातें जिम्मेदार हैं। कई बार आंदोलनों और हड़तालों का असर भी ट्रेनों के टाइम पर न चलने के लिए जिम्मेदार होता है।
- हम वन टाइम रजिस्ट्रेशन टिकट का अरेंजमेंट कर रहे हैं। 400 और स्टेशनों पर वाई-फाई की सर्विस बढ़ाई जा रही है।
- हबीबगंज के अलावा चार और स्टेशनों को री-डेवलप किया जाएगा।
- सोशल मीडिया का इस्तेमाल रोजाना के काम में ट्रांसपेरेंसी लाने के लिए किया जाएगा। ई टेंडरिंग प्रोसेस और पेपरलैस वर्क का काम तेज किया जाएगा। हमने जोनल रेलवे से कई कॉन्ट्रेक्ट किए हैं ताकि टारगेट्स को पूरा किया जा सके।
- हर जोन से काम को लेकर दो रिपोर्ट मांगी गई हैं। इंटरनल ऑडिट के प्रोसेस को सख्ती से लागू किया जाएगा। पिछले इलाकों को रेलवे से जोड़ने की कोशिश होगी। 44 नए प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं। इसके लिए प्राइवेट और पब्लिक सेक्टर की मदद ली जाएगी।
- रेलवे में सभी पदों के ऑनलाइन भर्ती। जालंधर-ऊधमपुर मार्ग का काम जोरों पर।
- 2020 तक बड़ी लाइनों के लक्ष्य को पूरा करने की कोशि‍श।
- हम इंस्टीट्यूशनल फाइनेंस के जरिए अपनी स्कीम्स को फंड मुहैया कराने की दिशा में काम कर रहे हैं। हम अगले साल 2 हजार किलोमीटर नई लाइन बनाने पर काम कर रहे हैं।
- 2010 तक जनता जब चाहेगी तब टिकट ले सकेगी। नारगोल पोर्ट को कनेक्ट किया जाएगा।
- नॉर्थ ईस्ट पर हमारा फोकस है। अगरतला को ब्रॉड गेज से जोड़ा जाएगा।
- मेक इन इंडिया दो लोकल फैक्ट्री खोली जाएंगी। इससे लोगों को रोजगार मिलेगा। पिछले साल 8720 करोड़ रुपए की बचत की गई। 2020 तक कोई भी लाइन बिना गार्ड के नहीं रहेगी।
- हम ऐसे दौर में बेहतरी की कोशिश कर रहे हैं जिस दौर में दुनिया मंदी से गुजर रही है। हम जानते हैं कि रेलवे के काम में सुधार की काफी ज्यादा जरूरत है। इस पर सबसे ज्यादा फोकस किया जा रहा है।
- अगर रेलवे के खर्च किए जा सके तो आमदनी और सुविधाएं बढ़ाई जा सकती हैं। हम इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में भी रेलवे का रोल बड़ा करना चाहते हैं। बजट में लागत कम करने के उपायों पर फोकस किया जा रहा है।
- हम चाहते हैं कि रेलवे 10 फीसदी ज्यादा मुनाफा कमाए। रेलवे में हर पैसे का हिसाब रखे जाने पर हमारा फोकस है। हमारा लक्ष्य 8720 करोड़ बचत का है।
- 1.85 लाख करोड़ है ट्रेफिक रेवेन्यू टारगेट।
- हम नए तरीकों से रेवेन्यू जनरेट करने की कोशिश करेंगे। इसके लिए रास्ते तलाशे हैं और भी तलाशे जाएंगे।
- हम इंटरनेशनल स्टैंडर्ड की सर्विस देने की कोशिश करेंगे। इसके लिए हर तबके की मदद भी चाहते हैं। नव उमंग, नव तरंग... हरिवंश राय बच्चन की कविता की एक लाइन पढ़ी। हम चाहते हैं कि रेलवे की आमदनी बढ़े ताकि सुविधाएं भी बढ़ाई जा सकें।
- वाजपेयी की दो लाइनें बोलीं। विपदाएं आती हैं आएं- हम ना झुकेंगे और हम न रुकेंगे। चलो मिलकर कुछ करें।
- रेल मिनिस्टर के रूप में मैंने देश के कई हिस्सों का दौरा किया। मुंबई के स्टेशन काफी साफ मिले। सोशल मीडिया पर पैसेंजर सेफ्टी को लेकर लोगों ने काफी तारीफ की है।
- हमने कई सेक्शन के सुझावों को बजट में शामिल किया है। रेलवे देश की बैक बोन की तरह है। यात्रियों की गरिमा, रेल की गति और देश की प्रगति हमारा फोकस है।
- रेल बजट पेश कर रहे हैं सुरेश प्रभु।
- रेल भवन पहुंचे रेल मंत्री।
- प्रभु ने कहा,''हर स्टेशन पर देंगे वाई-फाई। ''
- रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा,'' मैं ड्राइविंग सीट पर जरूर हूं, लेकिन पूरी जनता मेरे साथ सफर कर रही है।''
- रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा,''यह बजट सुधारों वाला होगा। जनता के हितों का ख्याल रखा जाएगा। ''

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top