Top
Home > Archived > शिवसेना ने पोस्टर में PM मोदी को बताया ढोंगी, कहा-कभी बाला साहेब के आगे झुकाते थे सिर

शिवसेना ने पोस्टर में PM मोदी को बताया ढोंगी, कहा-कभी बाला साहेब के आगे झुकाते थे सिर

 Special News Coverage |  21 Oct 2015 7:43 AM GMT

shivsena


नई दिल्ली : पाकिस्तान का विरोध कर रही शिवसेना ने अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। बुधवार को शिवसेना भवन के सामने एक पोस्टर लगाया गया। इसमें मोदी पर जमकर हमला बोला गया। नरेंद्र मोदी को ढोंगी करार दिया गया। पोस्टर में लिखा गया, '' जो अब गर्व से सिर उठा रहे हैं वो कभी बाला साहेब के चरणों में सिर झुकाते थे।'' पोस्टर में नजर आ रही फोटो मोदी और बाला साहेब ठाकरे की मुलाकात के दौरान की है।


इन पोस्टर्स में शिवसेना के सुप्रीमो स्व. बाळठाकरे के साथ भाजपा नेताओं को दर्शाया गया है। इन पोस्टर्स में बताया गया है कि बाला साहेब ठाकरे के सामने भाजपा के बड़े नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नीतिन गडकरी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. गोपीनाथ मुंडे, भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी मिल रहे हैं।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा, '' अगर मलाला हिंदुस्तान में आती है तो शिवसेना भी उसका स्वागत करेगी। मलाला एक बच्ची है जिसने पाकिस्तान में बैठ कर टेरेरिज्म के खिलाफ गोली झेली है। आज भी उसका संघर्ष जारी है। हमें सामाजिक न्याय की बात समझाने वाले बल्लभगढ़ में दलितों को जलाए जाने पर क्या बोलेंगे? अब मैं बीजेपी के केंद्रीय नेताओं के बयान का इंतजार कर रहा हूं।'' हालांकि, उन्होंने मोदी के खिलाफ मुंबई में पोस्टर लगाए जाने पर कुछ नहीं कहा।

वहीं, महाराष्‍ट्र के मंत्री रामदास कदम ने कहा है कि भाजपा के मुंबई प्रमुख आशिष शेलर के कारण भाजपा और शिवसेना के बीच खटास बढी है। मंगलवार को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों की वकालत करने संबंधी टिप्पणी के लिए भाजपा के महाराष्ट्र प्रमुख राणासाहेब दाणवे को आडे हाथ लेते हुए शिवसेना नेता रामदास कदम ने कहा कि दाणवे को यह स्पष्ट करना चाहिए कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके विचारों का समर्थन करते हैं।

राज्य के पर्यावरण मंत्री कदम ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि दाणवे को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रुप में मोदी के पाकिस्तान के रुख के बारे में उनके पुराने भाषणों को देखना चाहिए। कदम ने सवाल किया कि क्या मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद पाकिस्तान के साथ क्रिकेट संबंधों का समर्थन कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यदि भाजपा शिवसेना को नीचा दिखाने के लिए इस तरह के कदम (भारत पाक क्रिकेट संबंधों की बहाली) उठाती है, तो यह शहीद सैनिकों के परिवारों के घावों पर नमक छिडकने के समान होगा, शिवसेना पर नहीं। पार्टी के पाकिस्तान विरोधी रुख को जायज ठहराते हुए कदम ने कहा कि शिवसेना पाकिस्तान के साथ खेल एवं संस्कृति संबंधों का तब तक विरोध करना जारी रखेगी, जब तक कि वह सीमापार आतंकवाद को प्रायोजित करना बंद नहीं कर देता। उन्होंने कहा कि यह बाला साहेब ठाकरे का रुख था, जिसे उद्धवजी ने जारी रखा हुआ है।

हालांकि विवाद गहराने के बाद शिवसेना ने ये पोस्टर हटवा दिया है। वहीं, इस मामले पर भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि अगर शिवसेना ये सोचती है कि जिस तरह का सम्मान हम बाला साहेब को देते थे, वही सम्मान हम उद्धव और आदित्य का करेंगे, तो वो उनकी भूल है। इसके साथ ही भाजपा नेता गिरीश व्यास ने कहा कि उन्हें आशा है कि पोस्टर में जिस तरह लोग बाला साहेब के सम्मान में झुके हैं, वैसे ही भविष्य में आदित्य पीएम मोदी के सम्मान में ऐसे ही झुकेंगे। तो वहीं शिवसेना नेता राजेंद्र राउत ने सफाई देते हुए कहा कि ये पोस्टर शिवसेना ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए लगाया है। इसमें किसी भी नेता की तौहीन का तो सवाल ही नहीं है।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें




style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it