Top
Home > Archived > नेशनल हेराल्ड : सोनिया-राहुल की आज कोर्ट में पेशी, कई जगह कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन

नेशनल हेराल्ड : सोनिया-राहुल की आज कोर्ट में पेशी, कई जगह कांग्रेस का शक्ति प्रदर्शन

 Special News Coverage |  19 Dec 2015 7:44 AM GMT

National Herald case Sonia-Rahul

नई दिल्ली : नेशनल हेराल्ड केस में शनिवार को सोनिया गांधी और राहुल गांधी पटियाला हाउस कोर्ट में दोपहर 3 बजे पेश होंगे। सोनिया ने पार्टी से साफ कहा है कि पेशी के वक्त ड्रामा नहीं होना चाहिए। इसके बावजूद कांग्रेस ऑफिस के बाहर प्रदर्शन हो रहा है। इस बीच, राहुल गांधी सोनिया से मिलने 10 जनपथ पहुंच चुके हैं।

सूत्रों के मुताबिक सोनिया ने कांग्रेस नेताओं को कहा है कि कोर्ट के बाहर कोई जुलूस या तमाशा न हो और न्यायिक प्रक्रिया का सम्मान किया जाए। अदालत जैसा निर्देश देगी, उसका पालन किया जाएगा। अगर कोर्ट जमानत लेने को कहे, तो ले ली जाएगी।


कांग्रेस के दोनों शीर्ष नेताओं की कोर्ट में पेशी से पहले कांग्रेस दफ्तर के अंदर और बाहर में काफी गहमागहमी का माहौल है। दिल्ली के अकबर रोड पर कांग्रेस मुख्यालय के बाहर समर्थकों का जमावड़ा लग गया है। लोग सोनिया और राहुल के समर्थन में नारे लगा रहे हैं। इनके हाथों में कांग्रेस का झंडा और बैनर-पोस्टर हैं। यहां सुरक्षा के लिए पुख़्ता इंतज़ाम किए गए हैं। वहीं कांग्रेस दफ़्तर में कांग्रेस नेता भी दोपहर एक बजे बैठक करेंगे, जिसमें कांग्रेस अपनी रणनीति तैयार करेगी। वहीं, देश के अन्‍य शहर भोपाल और मुंबई में भी कांग्रेस समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं।

पटियाला हाउस कोर्ट में इस हाई प्रोफाइल मामले की सुनवाई के मद्देनजर शुक्रवार को ही सुरक्षा बढ़ा दी गई। सुरक्षा का जिम्मा विशेष सुरक्षा गार्ड (एसपीजी) ने संभाल लिया है। एसपीजी अधिकारियों ने कोर्ट परिसर का दौरा भी किया है। हाई रेजोल्यूशन वाले 16 नए सीसीटीवी भी लगाए गए हैं।

यह तय हुआ है कि जब सोनिया, राहुल, मोतीलाल वोहरा और आस्कर फ़र्नांडिस अदालत में पेश होंगे तो उनके वक़ील उनके साथ होंगे। रणदीप सुरजेवाला साथ होंगे ताकि बाद में मीडिया को ब्रीफ़ कर सकें। कुछ नेता पटियाला हाउस अदालत पहुंच जाएं तो अलग बात है, पर उन्हें कोई ऐसा कोई निर्देश नहीं दिया गया है। इसी तरह कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों को दिल्ली तलब नहीं किया गया है, लेकिन अगर वे आते हैं तो रोका भी नहीं गया।

दरअसल, नेशनल हेराल्ड मामले की शिकायत बीजेपी नेता सुब्रह्मणयम स्वामी ने की थी। उन्होंने कहा था कि सोनिया और राहुल गांधी ने नेशनल हेराल्ड की पांच हज़ार करोड़ की संपत्ति पर कब्जा कर लिया है।

मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट लवलीन सिंह इस मामले की सुनवाई करेंगे। पटियाला हाउस कोर्ट में वह जुलाई 2015 में ही आए हैं। इससे पहले वह तीस हजारी कोर्ट में सिविल जज थे। उनसे पहले एमएम गोमती मनोचा थीं, जिन्होंने सबसे पहले सोनिया, राहुल और पांच अन्य आरोपियों को पेशी के लिए समन भेजा था। फिलहाल वह सिविल जज हैं।

किन धाराओं मे हैं सोनिया और राहुल पर आरोप
पटियाला हाउस कोर्ट ने जो समन जारी किए हैं, उनमें भारतीय दंड विधान की तीन धाराएं शामिल हैं।
IPC 420, धोखाधड़ी (अधिकतम सजा सात साल)
IPC 403, बेईमानी से संपत्ति हथियाना (अधिकतम सजा दो साल)
IPC 406, अमानत में खयानत (अधिकतम सजा तीन साल)
IPC 120, आपराधिक साजिश (सजा अपराध के अनुसार)

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it