Home > Archived > राजीव गांधी अगर दोबारा प्रधानमंत्री बनते तो राम मंदिर का निर्माण हो गया होता : सुब्रह्मण्यम स्वामी

राजीव गांधी अगर दोबारा प्रधानमंत्री बनते तो 'राम मंदिर' का निर्माण हो गया होता : सुब्रह्मण्यम स्वामी

 Special News Coverage |  18 April 2016 6:15 AM GMT

Subramanian Swamy


नई दिल्ली : नेहरू-गांधी परिवार के घोर आलोचक बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने अयोध्या विवाद के समाधान की कोशिशों के लिए पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की तारीफ की। स्वामी ने रविवार को कहा कि कांग्रेस नेता राजीव अगर दोबारा प्रधानमंत्री चुने जाते तो राम मंदिर का निर्माण हो गया होता।

सुब्रह्मण्यम स्वामी ने ‘अयोध्या में श्रीराम मंदिर क्यों और कैसे’ विषय पर संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘मैं राजीव गांधी को बहुत अच्छी तरह जानता था। अगर वह दोबारा प्रधानमंत्री बनते तो उन्होंने उसी स्थान पर (जहां विवादास्पद बाबरी मस्जिद थी) राम मंदिर का निर्माण करवा दिया होता।’’ राजीव ने विवादित स्थल का ताला खुलवा दिया था और राम मंदिर के लिए शिलान्यास कार्यक्रम की अनुमति दे दी थी।


भाजपा नेता स्वामी ने कहा, राजीव गांधी ने रामराज्य की अवधारणा को लागू करना शुरू किया था, लेकिन उनके असामयिक निधन से चीजें बदल गईं। सुप्रीम कोर्ट में रोजाना आधार पर अयोध्या विवाद की सुनवाई के लिए आम सहमति बनाने का प्रयास कर रहा हूं। कोर्ट का आखिरी फैसले से मंदिर निर्माण का रास्ता साफ होगा।

स्वामी ने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय में रोजाना आधार पर बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई किए जाने के लिए आम सहमति बनाने का प्रयास कर रहे हैं। स्वामी ने दावा किया कि उन्होंने मामले में शामिल मुस्लिम नेताओं से प्रस्ताव पर चर्चा की थी और सिद्धांत रूप में वो सहमत भी हो गए थे। हालांकि, जब अदालत में प्रस्ताव का समर्थन करने की बारी आई तो वो ‘चुप’ रह गए।

भाजपा नेता ने कहा कि उच्चतम न्यायालय का आखिरी फैसला अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ करेगा। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य मौजूदा साल के आखिर में शुरू हो सकता है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top