Top
Home > राष्ट्रीय > पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार की मुलाकात से कांग्रेस नाराज, कहा- ये Wrong Time है, क्योंकि...

पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार की मुलाकात से कांग्रेस नाराज, कहा- ये Wrong Time है, क्योंकि...

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों को आए एक महीना होने वाला है, लेकिन अभी तक सरकार बनाने को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है.

 Special Coverage News |  20 Nov 2019 10:57 AM GMT  |  दिल्ली

पीएम नरेंद्र मोदी और शरद पवार की मुलाकात से कांग्रेस नाराज, कहा- ये Wrong Time है, क्योंकि...
x

महाराष्ट्र में चुनाव नतीजों को आए एक महीना होने वाला है, लेकिन अभी तक सरकार बनाने को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाई है. इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया है. वहीं, दूसरी तरफ एनसीपी-कांग्रेस के बीच लगातार बैठकों का दौर भी जारी है. इस बीच एक बड़ी खबर सामने आई कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इन दोनों की मुलाकात से कांग्रेस नाखुश है. पार्टी सूत्रों का कहना है कि शरद पवार की पीएम मोदी से मुलाकात का ये 'wrong time' है.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के अनुसार, महाराष्ट्र में दिसंबर के पहले हफ्ते तक गैर भाजपा सरकार बनने की संभावना है. अगर शिवसेना कोई सांप्रदायिक एजेंडा अपनाएगी तो कांग्रेस सरकार से बाहर हो जाएगी. सूत्रों का कहना है कि शरद पवार ने पीएम नरेंद्र मोदी से गलत टाइम में मुलाकात की है. ये सही समय नहीं है, क्योंकि जब महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना मिलकर बनाने की ओर कदम बढ़ा रही है तो ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी कि शरद पवार को पीएम मोदी मिलना पड़ा.

बता दें कि एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इसके बाद पीएम मोदी ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक की. ऐसे में अब महाराष्ट्र के सियासी माहौल को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई हैं. बताया जा रहा है कि शरद पवार ने किसानों को मुद्दे को लेकर पीएम मोदी से मुलाकात की थी, लेकिन जानकारों कहना है कि महाराष्ट्र की सत्ता को लेकर यहां अलग ही खिचड़ी पक रही है. कुछ लोगों का तो यह भी कहना है कि बीजेपी शरद पवार को राष्ट्रपति का पद ऑफर कर सकती है.

बताया जा रहा है कि मुलाकात के दौरान शरद पवार ने एक पत्र भी सौंपा है, जिसमें बेमौसम बारिश की वजह से किसानों को झेलनी पड़ रही परेशानी के बारे में बताया गया है. इस पत्र में शरद पवार ने लिखा है कि, मैंने 2 जिलों से फसल की क्षति का डेटा इकट्ठा किया है, लेकिन अत्यधिक बारिश की वजह से नुकसान महाराष्ट्र के शेष हिस्सों तक फैला हुआ है, जिसमें मराठवाड़ा और विदर्भ शामिल हैं. मैं उसी के बारे में विवरण और जानकारी एकत्र कर रहा हूं, जिसे आपको जल्द से जल्द भेजा जाना चाहिए.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it